रासायनिक संश्लेषण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

रसायन विज्ञान में उद्देश्यपूर्वक एक या क्रम से कई रासायनिक अभिक्रियाएँ कराकर एक या अनेक उत्पाद बनाने की क्रिया को रासायनिक संश्लेषण (chemical synthesis) कहते हैं।

रासायनिक संश्लेषण सम्यक प्रकार से चुने हुए कुछ ज्ञात अभिकर्मकों (reagents) या अभिकारकों (reactants) से आरम्भ की जाती है। इसके उपरान्त इन्हें भिन्न-भिन्न प्रकार की अभिक्रियाओं से गुजारते हुए अन्तिम उत्पाद तक ले जाया जाता है।

संश्लेषण की विधियाँ/मार्ग[संपादित करें]

संश्लेषण के कुछ ऐसे भी तरीके हैं जिनमें अभिकर्मक से उत्पाद बनाने से बिल्कुल ही भिन्न रणनीति अपनायी जाती है। जैसे कैस्केड अभिक्रियाएँ (cascade reactions), बहुअवयवी अभिक्रियाएं (multi-component reactions), दूरदर्शीसदृश संश्लेषण (telescopic synthesis) आदि।

कार्बनिक संश्लेषण (Organic synthesis)[संपादित करें]

कार्बनिक संश्लेषण, रासायनिक संश्लेषण की एक सबसे महत्वपूर्ण शाखा है जो कार्बनिक यौगिकों के संश्लेषण से सम्बन्धित है।

इनें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]