रामप्रसाद सेन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
साधक रामप्रसाद
(रामप्रसाद सेन)
Ramaprasad Sen.jpg
जन्म 1718 ई या 1723 ई
हालीशहर (कोलकाता के निकट)
मृत्यु 1775 ई
हालीशहर
अन्य नाम साधक रामप्रसाद
प्रसिद्धि कारण शाक्त काव्य

साधक रामप्रसाद सेन ( 1718 ई या 1723 ई – 1775 ई) ) बंगाल के एक शाक्त कवि एवं सन्त थे। [1][2] उनकी भक्ति कविताएँ 'रामप्रसादी' कहलातीं हैं और आज भी बंगाल में अत्यन्त लोकप्रिय हैं। रामप्रसादी, बंगला भाषा मेम रचित है जिसमें काली को सम्बोधित करके रची गयीं हैं। [3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Martin 2003, पृष्ठ 191
  2. Ayyappapanicker 1997, p. 64
  3. McDaniel 2004, p. 162