सामग्री पर जाएँ

रामकृष्ण रंगा राव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

रामकृष्ण रंगा राव (1901 - 1978) एक ब्रिटिशकालीन भारतीय राजनीतिज्ञ, कानूनी विद्वान एवं जस्टिस पार्टी के नेता और जमींदार थे, जिन्होंने 5 नवंबर 1932 से 4 अप्रैल 1936 और 24 अगस्त 1936 से 1 अप्रैल 1937 तक मद्रास प्रेसीडेंसी के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया। बाद में वह भारत की संविधान सभा के सदस्य चुने गए।

परिचय एवं राजनैतिक सफर[संपादित करें]

रामकृष्ण रंगा राव का जन्म 20 फरवरी 1901 में विजयनगर ज़िले के (बोब्बिली) जमींदारी के शाही परिवार में हुआ था। वे वेंकट कुमार कृष्ण रंगा राव के पुत्र और बोब्बिली जमींदारी के राजा वेंकट रंगा राव के पोते थे।

रामकृष्ण ने 1921 में तल्लाप्रोले जमींदारी की राजकुमारी लक्ष्मी सुभद्रायम्मा से शादी की। वह बॉब्बिली के 13वें राजा के रूप में सिंहासन पर बैठे।