राधिका मेनन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

राधिका मेनन भारतीय नौवहन निगम में तैनात एक भारतीय टैंकर कैप्टन हैं। 7 जुलाई, 2016 को अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन ने सागर में असाधारण बहादुरी के लिए उन्हें सम्मानित करने का निर्णय लिया। उन्हें यह पुरस्कार समुद्र में दुर्गम्मा नामक मछली पकड़ने की नाव में सवार सात मछुआरों के जान बचाने के लिए दिया गया। उन्होंने मछुआरों की जान तब बचाई जब वह भारतीय नौवहन निगम के संपूर्ण स्वराज नामक तेल टैंकर पर नियुक्त थीं। यह पुरस्कार प्राप्त करने वाली वो दुनिया की पहली महिला हैं।[1][2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "भारतीय कप्तान राधिका मेनन, बहादुरी के लिए समुद्र अवॉर्ड हासिल करने वाली पहली महिला". मूल से 14 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जुलाई 2016.
  2. "समुद्र में जान की बाजी लगाकर बचाई थी 7 लोगों की जान, अब मिलेगा IMO अवॉर्ड". मूल से 12 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जुलाई 2016.