राणा अय्यूब

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
राणा अय्यूब
RANA AYYUB.jpg
राणा अय्यूब 2016 में
जन्म 1 मई 1984 (1984-05-01) (आयु 35)
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसाय पत्रकार, लेखक, स्तंभकार
धार्मिक मान्यता इस्लाम

राणा अय्यूब एक भारतीय पत्रकार है। वह पहले तहलका समाचार पत्र समूह के लिए एक पत्रकार के रूप में काम कर चुकी है, और अब एक स्वतंत्र स्तंभकार हैं।[1][2][3]

इसके मुख्य संपादक तरुण तेजपाल के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप की हैंडलिंग के खिलाफ नवंबर 2013 में राणा अय्यब ने तहलका से इस्तीफा दे दिया था।[4][5] वह नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार की आलोचना करती आ रही है। [4]

गुजरात के फर्जी मुठभेड़ों की अय्यूब की जांच आउटलुक पत्रिका ने दुनिया भर में बीस महानतम पत्रिका कहानियों में से एक के रूप में सूचीबद्ध की है।  [6] वे गुजरात फाइलज़: एनाटॉमी ऑफ ए कवर अप की लेखक हैं। [7]

पुरस्कार और मान्यता[संपादित करें]

अक्टूबर 2011 में, राणा अय्यूब ने पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए संस्कृति पुरस्कार प्राप्त किया।[8]

अभिनेत्री ऋचा चडा ने दावा किया है कि उसने राणा अय्यूब, जो उसकी दोस्त भी है, से  2016 में फिल्म चाक एन डस्टर में एक पत्रकार की भूमिका के लिए प्रेरणा  ली है। [9]

विवाद[संपादित करें]

तरुण तेजपाल सेक्स और शोमा चौधरी ने विवाद किया अय्यूब का दावा कि गुजरात में फर्जी मुठभेड़ों पर उनकी कहानी, आठ महीने की गुप्त जांच का परिणाम थी, और इसे छोड़ दिया। जपाल के अनुसार, अय्यूब की कहानी "अपूर्ण" थी।चौधरी के अनुसार, अय्यूब की कहानी "आवश्यक संपादकीय मानकों को पूरा नहीं करती थी।"[10] अय्यूब ने तेजपाल और चौधरी के इस तर्क पर प्रतिक्रिया देकर कहा है कि:

मुझे कहना होगा कि तहलका में छोड़ी हुई कहानियों के बारे में शिकायत करने वाली केवल मैं नहीं हूं, सूची काफी बड़ी है ... तहलका के शोमा चौधरी और तरुण तेजपाल ने संपादकीय निर्णय और गैप्स का हवाला दिया। किताब एक बेस्टसेलर है और इसकी सामग्री की बड़े जोश से समीक्षा हो रही है। पाठक न्यायाधीश बनें[10]

पुस्तक[संपादित करें]

गुजरात फाइलज़: ऐनाटॉमी ऑफ ए कवर अप में, अयूब ने गुजरात के कई नौकरशाहों और पुलिस अफसरों की छुपा रिकॉर्डिंग डिवाइस का इस्तेमाल करते हुए रिकॉर्डिंग की। 2002 के गुजरात दंगों और पुलिस मुठभेड़ हत्याओं पर नौकरशाहों और पुलिस अधिकारियों के विचारों को उजागर करने के लिए एक गुप्त जांच के दौरान रिकॉर्डिंग की गई थी। वो अपने को अमेरिकी फिल्म संस्थान की छात्र मैथिली त्यागी, जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की मान्यताओं के लिए एक वैचारिक संबंध रखने वाली है, के रूप में प्रस्तुत कर रही थी। इसने उन्हें रिकॉर्डिंग करने में सक्षम बनाया। [11][12][13][14][15][16][17][18]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://www.ndtv.com/author/rana-ayyub
  2. http://www.firstpost.com/politics/tehelka-didnt-run-rana-ayyubs-gujarat-riots-story-because-it-was-incomplete-tarun-tejpal-2808414.html
  3. http://www.dnaindia.com/authors/rana-ayyub
  4. "DNA takes down article critical of Amit Shah". अभिगमन तिथि 12 July 2014. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> अमान्य टैग है; "ToI_DNA_2015" नाम कई बार विभिन्न सामग्रियों में परिभाषित हो चुका है
  5. "Tehelka scandal: Senior editor Rana Ayyub quits in protest". Firstpost]].
  6. http://www.outlookindia.com/magazine/story/the-20-greatest-magazine-stories/295660
  7. http://www.caravanmagazine.in/vantage/lone-soldier-excerpt-rana-ayyub-gujarat-files
  8. "Sanskriti awards to Kashmiri writer, sarangi maestro". अभिगमन तिथि 4 July 2015.
  9. [1]
  10. "We didn't run Rana Ayyub's Gujarat riots story because it was incomplete: Tarun Tejpal".
  11. "How Rana Ayyub had to become Maithili Tyagi for her investigations in Gujarat".
  12. "Gujarat Files: Anatomy of a Cover Up".
  13. "Gujarat Gazetteer, By Maithili Tyagi". Outlook. 11 July 2016. अभिगमन तिथि 17 October 2016.
  14. "On the trail of the real culprits". Frontline. 8 July 2016. अभिगमन तिथि 18 September 2016.
  15. "Book review: Gujarat Files". Mint. 4 June 2016. अभिगमन तिथि 17 September 2016.
  16. "Gujarat Files: Rana Ayyub and stinging truths". Business Standard. 25 June 2016. अभिगमन तिथि 17 September 2016.
  17. "Gujarat Files: Sting claims political pressure in Gujarat riots". Indian Express. 30 May 2016. अभिगमन तिथि 18 September 2016.
  18. "What the Silence Over Rana Ayyub's 'Gujarat Files' Tells Us". The Wire. 1 July 2016. अभिगमन तिथि 17 September 2016.