राज्यतन्त्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

राज्यतन्त्र (polity) किसी भी प्रकार की राजनैतिक इकाई को कहते हैं, यानि यह किन्ही भी लोगों का ऐसा समूह होता है जो सामूहिक पहचान रखें, संसाधनों को काबू करके उनका प्रयोग करने में सक्षम हों और आपस में किसी पदानुक्रम के आधार पर आदेश देने वालों और उन आदेशों का पालन करने वालों में संगठित हों।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Ferguson, Yale, & Richard W. Mansbach (1996) "Polities: Authority, Identities, and Change", Columbia, SC: University of South Carolina Press