राजेंद्र प्रसाद (चिकित्सक)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
डॉ॰ राजेन्द्र प्रसाद
क्षेत्र क्षय रोग
उल्लेखनीय सम्मान डॉ बी सी रॉय नैशनल अॅवार्ड
विज्ञान गौरव सम्मान
उत्तर प्रदेश रत्न सम्मान

डॉ० राजेंद्र प्रसाद एक भारतीय चिकित्सक एवं वैज्ञानिक है, चिकित्सा खासकर क्षय रोग के क्षेत्र में उकृष्ट योगदान के लिए जाना जाता है।[1] वर्ष 2016 में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा डॉ बी सी रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[2] इन्हें उत्तर प्रदेश में श्वसन चिकित्सा का जनक माना जाता है।[3]

पुस्तकें[संपादित करें]

डॉ प्रसाद भारत के पहले व्यक्ति हैं जिनको भारतीय रोगियों के सन्दर्भ में टीबी एवं वक्ष (चेस्ट) विषय पर पुस्तक लिखने का श्रेय प्राप्त है। इसी विषय पर अब तक इनकी 235 शोधपत्र और 7 किताबें छप चुकी हैं।[4]

सम्मान एवं पुरस्कार[संपादित करें]

  • डॉ बीसी रॉय नैशनल अॅवार्ड, भारतीय चिकित्सा परिषद द्वारा
  • विज्ञान गौरव सम्मान, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा[5]
  • उत्तर प्रदेश रत्न सम्मान, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
  • ओ ए शर्मा ओरशन अॅवार्ड
  • एम संतोषम ओरेशन अॅवार्ड
  • डी० एन० शिवपुरी ओरशन अॅवार्ड
  • इण्डियन चेस्ट सोसायटी हॉनर लेक्चरर अॅवार्ड
  • डॉ रेड्डी लंग कैंसर ओरेशन अॅवार्ड
  • प्रोफेसर रमन विश्वनाथन मेमोरिएिल चेस्ट अॅवार्ड
  • ट्यूबर क्लोसिस एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया
  • ओरेशन अॅवार्ड

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "President confers B.C. Roy awards" (अंग्रेज़ी में). बिजनेस स्टैण्डर्ड. 1 जुलाई 2016.
  2. सिंह, रोहित. "KGMU के पल्मोनरी विभाग के पूर्व हेड को राष्ट्रपति ने किया डॉ बीसी राय अवार्ड से किया सम्मानित". पत्रिका. अभिगमन तिथि 2 जुलाई 2016.
  3. "Dr Rajendra Prasad joins as Director of Patel Chest Institute, Delhi" (अंग्रेज़ी में). सिटीजन न्यूज़. नवम्बर 2012.
  4. "प्रोफेसर राजेन्द्र प्रसाद डॉ॰ बी॰ सी॰ राय नेशनल अवार्ड से सम्मानित". इंस्टेंट खबर. 7 मई 2016.
  5. "Vigyan Gaurav Award and LMA Transformation Leadership Award 2014 to Prof. Rajendra Prasad" (अंग्रेज़ी में). du.ac.in. 19 दिसंबर 2014.