राजा मांडलिक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

राजा मांडलिक वागड़ के शासक थे इडर वागड़ का प्रमुख नगर था। राजा मांडलिक ने मेवाड़ अथवा गुहिल वंश के संस्थापक राजा गुहादित्य को अपने संरक्षण में रखा।[1]

जब शिलादित्य के वल्लभी पर मलेच्छो ने हमला कर दिया तब शिलादित्य वीरगति को प्राप्त हुए एवं उनकी रानी ने एक गुफा के भीतर गोहिल को जन्म दिया। कमलावती नामक ब्राह्मणी ने उस बालक को राजा मांडलिक भील को सौंप दिया। गुहादित्य , राजा मांडलिक के राजमहल में रहता और भील बालकों के साथ घुड़सवारी करता इस तरह गोहिल राजा मांडलिक के संरक्षण में पला बढ़ा। कर्नल जेम्स टॉड के अनुसार गुहादित्य ने भील शासक राजा मांडलिक की हत्या कर दी और 566 ईसा पूर्व के दौरान गुहिल वंश की नींव रखी।[2]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Jain, Nemichand (1971). Bhīlī kā bhāshā-śastrīya adhyayana. Indaura Viśvavidyālaya.
  2. Tagore, Abanindranath (2004). Raj Kahini (अंग्रेज़ी में). Katha. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-87649-78-6.