राजा बांसिया भील

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

राजा बांसिया भील एक आदिवासी समुदाय के राजा थे जिन्होंने राजस्थान के बांसवाड़ा नगर की स्थापना की थी।[1] आज भी बांसवाड़ा में पहाड़ी पर बांसिया भील का महल मौजूद है।[2]

राजा बांसिया भील के दादा बिया भील थे , भील राजा बिया चरपोटा ने चित्तौड़गढ़ और मल्हारगढ़, धारगढ़ राजधानियों पर राज किया. उनके 2 पुत्र अमरा, वागा जड़ चरपोटा थे. भील राजा बिया चरपोटा के बाद राज्य का शासक भील राजा अमरा के नाम से अमरथुन नगर का नामकरण किया गया. वागा के नाम से वाड़गुन नगर और जड़ ने संन्यास लेकर साधुओं के साथ पहाड़ पर चले गए और साधु बन गए. जिनके नाम से उस पहाड़ का नामकरण जगमेरु (जोगिमाल) रखा गया, जो कि घाटोल उपखण्ड में है.राजा अमरा ने अमरथुन को अपनी राजधानी बनाया. यहां से पूरे क्षेत्र में राज किया करते थे. भील राजा बिया चरपोटा चित्तौड़गढ़ से चरपोटा वंश की कुलदेवी मां अंबे और शिव पार्वती की मूर्तियां भील राजा अमरा चरपोटा अमरथुन में सन 1445 ईसवी में लेकर आए थे, जो आज भी स्थापित है. राजा अमरा चरपोटा के 2 पुत्र 3 पुत्रियां थी. एक पुत्र बासिया, दूसरा बदीया और पुत्री 1 बाई, डाई, 3 राजा था. राजा अमरा चरपोटा के बाद राज्य के शासक भील राजा बासिया चरपोटा बने [3]

1515 में मकर संक्रांति के दिन अमरथून से निकल कर अपने भाई बहनों के साथ उन्होंने एक नया नगर बसाया जिसे बांसवाड़ा नाम दिया गया । तबसे उन्हें राजा बांसिया भील कहा जाने लगा। बांसिया भील की दो पत्नियां समाई और हंगवाई थी और समाई के नाम से समाईपुरा पहाड़ का नामकरण किया था। हंगवई के नाम से अमरथून नगर में हुनगर पहाड़ का नामकरण हुआ।

आज जिस क्षेत्र काे समाईमाता के नाम से जाना जाता है, 15वीं सदी में जंगलाें में बसे इसी क्षेत्र काे बांसवाड़ा के नाम से जाना जाता था। बांसवाड़ा की सबसे ऊंची पहाड़ी पर आज भी बासिया भील के महल के अवशेष हैं [4]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Indica (अंग्रेज़ी में). Heras Institute of Indian History and Culture, St. Xavier's College. 2007.
  2. "हिंदी खबर, Latest News in Hindi, हिंदी समाचार, ताजा खबर". Patrika News (hindi में). अभिगमन तिथि 2020-05-31.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  3. साँचा:Https://react.etvbharat.com/hindi/rajasthan/state/bhilwara/unemployed-protest-against-congress-candidate-in-bhilwara/rj20210401152135210
  4. साँचा:Https://www.google.com/amp/s/www.bhaskar.com/amp/local/rajasthan/banswara/news/banswara-was-situated-in-these-forests-of-samai-127600457.html