राजा कोटिया भील

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

राजा कोटिया भील के आधार पर ही कोटा शहर का नामकरण हुआ है। कोटा शहर में प्रमुख रूप से भील जनजाति निवास करती हैं । यह शहर चंबल के किनारे बसा हुआ है ।

राजा कोटिया भील एक प्रतापी राजा रहे । कोटा पर सदियों से भील राजाओं का शासन रहा था,और " कोटिया " भील राजाओं अथवा सरदारों को दी जाने वाली उपाधि थी । कोटिया भील की राजधानी अकेलगड़ रही । आशापुर और अकेलगढ़ भील राजाओं की निशानियां रही । राजा कोटिया भील के आधार पर कोटा में कोटिया भील फोर्ट स्थिति है ।

राजा कोटिया भील ने प्रमुखरूप से दो महत्वपूर्ण युद्ध किया जिसमें दूसरे युद्ध में वे धोखे से मारे गए ।