रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक, लखनऊ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक, लखनऊ
CGDA Logo.gif
सम्बंधित परीक्षाभारतीय रक्षा लेखा सेवा
राष्ट्रFlag of India.svg भारत
नियंत्रकरक्षा लेखा महानियंत्रक
कार्यरक्षा लेखा परीक्षा (लखनऊ क्षेत्र)
वित्तीय सलाहकार (रक्षा सेवा)वर्तमान: श्री सुनील कुमार कोहली, भा. र. ले. से. (1981)
रक्षा लेखा महानियंत्रकवर्तमान : श्रीमती मधुलिका पी. सुकुल, भा. र. ले. से. (1982)
रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक, लखनऊवर्तमान : श्री आलोक चतुर्वेदी, भा. र. ले. से.
आधिकारिक जालस्थलहिंदी जालस्थल

रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक, लखनऊ (Principal Controller of Defence Accounts, Lucknow) भारत के रक्षा लेखा विभाग के लखनऊ क्षेत्र का नेतृत्व रक्षा लेखा महानियंत्रक के प्रशासनिक नियंत्रण में कार्य करते हैं। रक्षा लेखा विभाग के प्रमुख कार्य भारतीय सशस्त्र बलों से संबंधित सभी प्रकार के भुगतानों पर निगरानी करना, खातों का लेखा जोखा रखना और जांच करना है। इनमें आपूर्ति और सेवाओं के बिल और निर्माण / मरम्मत कार्यों, वेतन और भत्तों के विविध शुल्क, पेंशन, आदि के बिल शामिल हैं।[1]

संगठन के सम्बन्ध में[संपादित करें]

जनवरी १९९५ में लखनऊ, फैजाबाद, फतेहगढ़ और वाराणसी स्थित ६ वेतन लेखा कार्यालयों (अ.श्रे.) को विलयित करके रक्षा लेखा नियंत्रक, लखनऊ का रूप दिया गया जिसका जुलाई २००० में पुनः उन्नयन करके वर्तमान अर्थात रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक, लखनऊ का रूप दिया गया।

गुणवत्ता कथन[संपादित करें]

रक्षा लेखा विभाग उपभोक्ता की संतुष्टि के लिए दक्ष सही तथा तत्काल लेखाकंन भुगतान तथा वित्तीय सलाह प्रदान करने के लिए प्रतिबद्व है । यह लोक जवाबदेही को सुनिश्चित करने के लिए दक्ष लेखापरीक्षा सेवा प्रदान करने के लिए भी प्रतिबद्व है।

लक्ष्य कथन[संपादित करें]

हम लेखाकंन एवं वित्तीय सेवाओं तथा लेखापरीक्षा कार्यकलापों में उत्कृष्टता एवं व्यवसायिकता प्राप्त करने की दिशा में अग्रसर हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 9 मार्च 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जून 2020.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]