योग चिकित्सा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

भारतवर्ष की अमूल्य धरोहर है योग विद्या योग पद्दति सुदूर अतीत काल से गुरुपरंपरापूर्वक निरंतर चली आ रही है । योग विद्या वस्तुतः भारतीय ऋषि-मुनियों एवं योगियों द्वारा प्रदत महत्वपूर्ण अंतरविज्ञान है ।

प्राचीन काल से ही स्वास्थ्य एवम् चिकित्सा रूप में योग का विशाल एवं विस्तृत उल्लेख मिलता है । वर्तमान में नैनो टेक्नोलॉजी संपूर्ण विश्व में अत्यधिक प्रचलित हो रही है । तकनीकी, वाहन, सुरक्षा, मीडिया, मोबाइल, परिवहन, स्वास्थ्य आदि के क्षेत्रों में नैनो टेक्नोलॉजी का संपूर्ण विश्व में शीघ्रता से विकास विस्तार निरंतर बढ़ता जा रहा है, बढ़ रहा है । नैनो का अर्थ सूक्ष्म से सूक्ष्म रूप । योग ( आसन प्राणायाम आदि अंग ) भी हमारी कोशिकाओं के सूक्ष्म स्तर पर कार्य करता है एवं उसे प्रभावित करता है, इसलिए योग भी नैनोमेडिसिन की तरह ही कार्य करता है इसको महर्षि पतंजलि ने अपने योग सूत्र 1/40 में बताते हैं ।