यशपाल जैन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
यशपाल जैन
जन्म 1 सितंबर 1912
विजयगढ़, अलीगढ़ जिला, आगरा और अवध के संयुक्त प्रांत, ब्रिटिश भारत
मृत्यु

10 अक्टूबर 2000

(Age 88)
नागदा, मध्य प्रदेश, भारत
व्यवसाय लेखक
पुरस्कार पद्म श्री

यशपाल जैन (1912 - 2000)[1] एक भारतीय लेखक थे।[1]

उनका जन्म 1 सितंबर 1912 को ब्रिटिश भारत के आगरा और अवध के संयुक्त प्रांत अलीगढ़ जिले के विजयगढ़ में हुआ था। उन्होंने बच्चों की किताबों सहित कई किताबें प्रकाशित कीं।[2] अजंता एलोरा, अहिंसा, भारत के अचूक हथियार और तीर्थयात्रा उनके कुछ उल्लेखनीय कार्य हैं।[3] भारत सरकार ने उन्हें 1990 में चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म श्री से सम्मानित किया।[4]

10 अक्टूबर 2000 को नागदा (म.प्र) में आपका निधन हो गया।[5]

सस्ता साहित्य मंडल के प्रकाशन के पीछे मुख्यत: आप ही का परिश्रम था। आपने सस्ता साहित्य मंडल प्रकाशन के मंत्री के रूप में हिंदी की सेवा की।आपने अनेक उपन्यास, कहानी संग्रह, एक आत्मकथा, 3 प्रकाशित नाटक, कविता संग्रह, यात्रा वृत्तांत, व संग्रहों का प्रकाशन व संपादन किया।

यशपाल जैन की कृतियाँ[संपादित करें]

लेख

  • सफलता की कुंजी-(लेख संग्रह)
  • हमारे संत महात्मा-(लेख संग्रह)
  • हमारी बौधिक्ताए-(लेख संग्रह)

बाल उपन्यास:

  • राजकुमार की प्रतिज्ञा

प्रेरक कथाएँ:

  • पथ के आलोक

बोध कथाएँ:

  • तोड़ो नहीं, जोड़ो
  • हम सब चोर हैं
  • भगवान के दरबार में सब बराबर
  • धीरज का फल
  • आखिरी दरवाजा
  • नशे का तमाशा
  • दान का आनंद

कहानियाँ:

  • चतुरी चमार

अनुवाद

  • धरती की ममता
  • स्टीफन ज्विंग

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Yashpal Jain". Bharat Darshan. 2015. अभिगमन तिथि September 28, 2015.
  2. "Amar Kathayein - Yashpal Jain Reviews". Mouth Shut. 2015. अभिगमन तिथि September 28, 2015.
  3. "Books by Yashpal Jain". Exotic India. 2015. अभिगमन तिथि September 28, 2015.
  4. "Padma Awards" (PDF). Ministry of Home Affairs, Government of India. 2015. मूल (PDF) से 15 अक्तूबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि July 21, 2015.
  5. "यशपाल जैन | Yashpal Jain".