मौलाना रहमतुल्ला कैरानवी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

रहमतुल्ला कैरानवी (उर्दू:رحمت اللہ کیرانوی , इंग्लिश: Rahmatullah Kairanawi)
मौलाना रहमतुल्लाह कैरानवी के नाम से प्रसिद्ध लेखक, वक्ता और गदर स्वतंत्रता सेनानी थे।

उन पर रिसर्च करने वालों का मानना है कि मक्का में मदरसों का फिर से आरंभ रहमतुल्लाह कैरानवी ने' मदरसा सौलतिया" से किया।

इसाई धर्म गुरुओं से आगरा में बहस मुबाहिसा करने से और ईसाइयत पर पुस्तक "इज़हार उल हक़" के कारण भी जाने जाते हैं।


यह पुस्तक ऊर्दू और हिन्दी मे भी अनुवादित हुई।

1233 हिजरी को भारत में कस्बा कैराना ,जिला मुजफ़्फ़रनगर, उत्तर प्रदेश में पैदा हुये।

रमजान में 1308 हिजरी(1861 ई.) में देहान्त हुआ।