मोहम्मद हनीफ़ ख़ान शास्त्री

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मोहम्मद हनीफ़ ख़ान शास्त्री एक भारतीय संस्कृत विद्वान हैं।[1] साल 2009 में इन्हें व्यक्तिगत श्रेणी में राष्ट्रीय सांप्रदायिक सद्भावना पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।[2][3][4][5] वे राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान के प्रोफ़ेसर रहे थे।[6]

किताबें[संपादित करें]

उन्होंने आठ किताबें लिखी जिनमें से ये पाँच सूचीबद्ध हैं:[7]

  • मोहंगीता
  • गीता और क़ुरआन में सामंजस्य
  • वेद और क़ुरआन से महामंत्र गायत्री और सूराह फ़ातिहा
  • वेदों में मानवाधिकार
  • मेलजोल

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Gita, Koran and harmony". The Hindu (अंग्रेज़ी में). 2011-03-22. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0971-751X. अभिगमन तिथि 2017-09-18.
  2. "List of Communal Harmony Award winners up to 2012" (PDF). Ministry of Home Affairs, Government of India. अभिगमन तिथि 2017-09-18.
  3. "Meet Dr Mohammed Hanif Khan Shastri". Hindustan Times (अंग्रेज़ी में). 2011-08-07. अभिगमन तिथि 2017-09-18.
  4. "Communalism, terrorism big challenges: PM". Zee News (अंग्रेज़ी में). 2011-07-29. अभिगमन तिथि 2017-09-18.
  5. Thorpe, Edgar Thorpe, Showick (2010). The Pearson Current Events Digest 2010 (अंग्रेज़ी में). Pearson Education India.
  6. Chakravorty, Rishabh (2015-06-11). "International Yoga Day gets support from minority leaders". India.com (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2017-09-18.
  7. "National Communal Harmony Awards 2009 announced". pibmumbai.gov.in. अभिगमन तिथि 2017-09-18.