मैसूर हिंदी प्रचार परिषद, बंगलुरु

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

स्थापना[संपादित करें]

सन् १९४२ ई.

उद्देश्य[संपादित करें]

मैसूर राज्य में अहिन्दी भाषी क्षेत्रों में हिन्दी के प्रचार के उद्देश्य से इस परिषद की स्थापना हुई। परिषद की तीन परीक्षाएँ प्रवेश, उत्तमा, रतन क्रमश: मैट्रिक, आई.ए. और बी.ए. के समकक्ष हैं, जिन्हें मैसूर राज्य सरकार तथा भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त है। परिषद का अपना केन्द्रीय पुस्तकालय है जिसमें हिन्दी की लगभग पाँच हजार से भी अधिक पुस्तकें हैं। निजी संविधान के द्वारा परिषद् की परीक्षाएँ, प्रचार के कार्य एवं प्रकाशन आदि संचालित किए जाते हैं।

प्रकाशित पत्रिका[संपादित करें]

मैसूर हिन्दी प्रचार परिषद् पत्रिका (मासिक),

प्रधान संपादक : डॉ॰ बी. रामसंजीवरया

पता : मैसूर हिन्दी प्रचार परिषद, ५८, वेस्ट ऑफ कार्ड रोड, राजाजी नगर, बैंगलूर-१० (कर्नाटक)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]