मैंगलूर में पर्यटन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मंगलौर (मंगलूरू के अंग्रेजीभाषी संस्करण) भारत के पश्चिमी तट पर एक शहर है| यह अरब सागर में एक प्रमुख बंदरगाह है और दक्षिण कन्नड़ जिले के प्रशासनिक मुख्यालय है| यह अपने समुद्री भोजन के लिए अच्छी तरह से जानता है और कॉफी के एक निर्यातक है| तटीय शहर संरक्षक देवता, देवी मंगला देवी से व्युत्पन्न अपने नाम किया है| 'मंगलूरू', 'मंगला की जगह 'के लिए अनुवाद हे| यह असमान सड़कों, सुंदर समुद्र तटों, प्राचीन मंदिरों और चर्चों और एक बहुत प्रसिद्ध प्रकाशस्तंभ है| मंगलौर अपने स्वादिष्ट समुद्री भोजन के लिए जाना जाता है|

आवास[संपादित करें]

1. गेटवे होटल- यह होटल ओल्ड पोर्त रोड में स्थित है और चार सितारा होटल के रूप में मूल्यांकन किया गया है|

2. गोल्द्फिंच होटल- यह होटल बल्मात्ता में स्थित है और पांच में से तीन स्टार का दर्जा दिया है|

3. होटल दीपा कोम्फोर्त्स- यह होटल एम.जी. रोड में स्थित है|

4. होटल प्रेस्तिज- यह होटल भी, बल्मात्ता में स्थित है और पांच में से तीन स्टार का दर्जा दिया है|

5. मोटी महल- यह होटल हम्पन्नकत्ता में स्थित है और पांच में से तीन का दर्जा दिया है|

6. ओशन पर्ल- यह कोदियल्बैल में स्थित है और शहर में बेहतरीन होटलों में से एक है|

7. सम्मर सेंदस- यह शहर के बाहरी इलाके की ओर में स्थित है| यह बीच रिसॉर्ट है और यह शहर के बेहतरीन सैरगाह में से एक है|

8. जिंजर होतेल - यह होटल, कोत्तारा चौकी में स्थित है और पांच में से तीन का दर्जा दिया है|

गतिविधियो[संपादित करें]

1. मछली पकड़ना- तन्नीर्भवि

2. जेट स्कीइंग- पनामबुर बीच

3. डॉल्फ़िन देख- पनामबुर बीच

4. सर्फिंग- पनामबुर बीच

5. पर्यटन - पनामबुर बीच

6. निभाव - हुंडी लिखना- पनामबुर बीच

7. स्पीड नावों - पनामबुर बीच

8. पैरासेलिंग- पनामबुर बीच

आकर्षण[संपादित करें]

1. सेंट अलोय्सियस चैपल- 1 किमी की दूरी पर, नेहरू मैदान बस स्टैंड में स्थित में| यह चर्च की दीवारों इतालवी कलाकार एंथनी के चित्रों के साथ आते हैं| 1899-1900 के बीच निर्मित सेंट एलॉयसियस चर्च एक वास्तुशिल्प मणि के रूप में वर्णित किया गया है और यहां तक कि रोम में सिस्टिन चैपल की तुलना में किया गया है|

2. लेय्त हओस हिल- यह 18 वीं सदी के प्रकाश घर हैदर अली द्वारा निर्मित किए माना जाता है| आगंतुकों नौकायन जहाजों और नौकाओं के साथ समुद्र की एक सुंदर दृश्य मिलता है जहां से प्रकाश घर के पास एक बगीचा है|

3. कदरी मंजुनआथा तेम्पेल- मूल रूप से वज्रयान बौद्ध द्वारा किया गया था लेकिन बाद में बौद्ध धर्म के पतन होने के कारण, हिंदुओं के देवता मंजुनाथा के लिए परिवर्तित कर दिया गया|

4. सुल्तान बथेरी - किला टीपू सुल्तान द्वारा निर्माण किया गया था| यह माना जाता है कि किला के आसपास एक छिपा गुफा हें जो स्रीरंगपत्नम को जोड़ता है|

5. पनामबुर बीच- यह नई मेंगलोर पोर्त की साइट है। कई कारखानों यहाँ स्थित है|

6. तन्नीर्भवि बीच - पनामबुर बीच के अगले दूरी पर ही हे|

7. कुद्रोली गोकर्नाथ तेम्प्एल - यह कुद्रोली पर स्थित है। यह हिंदू भगवान शिव को समर्पित है|

8. मिलाग्रेस चर्च - यह मिलाग्रेस में स्थित है और बहुत पुराना है|

9. बेंदुर चर्च - यह बेंदुर में स्थित है और एक सो वर्ष से ज़्यादा तक खड़ा रहा है|

10. पिलीकुला ज़ू - यह मेंगलोर के सबसे बड़ा चिदियघर है|

11. बिजेय म्यूसीयम - यह बिजेय में स्थित है और 1950 में बना गया था|

12. कद्रि पार्क - यह पार्क कद्रि में स्थित है|

13. इंफेंत जीसस श्रआइन- यह चर्च बिकर्नाकत्ता में स्थित है और बहुत सुंदर है|

सुविधाएँ[संपादित करें]

1. सड़कें: - NH-17, NH-48, NH-13, NH-4, NH-234

2. रेल-मंगलौर रेलवे स्टेशन

3. समुद्र-नई मंगलौर पोर्त, पुराना पोर्त

4. हवा- मेंगलोरे एयरपोर्ट, बज्पे

खाना[संपादित करें]

1. पब्बस एस क्रीम पार्लर- यह मेंगलोर के सबसे पुराना और अच्छा पार्लर है|

2. विलेज रेस्तोरंत- यह होटल शहर का सबसे अच्छा भोजनालय है|

3. होतेल ताज- यह बहुत पुरना होटल है|

4. मंगला रेस्तोरंत- यह का बर्गर बहुत अच्छा है|

5. गजली सी फूड- यह का खाना बहुत प्रसिद्ध है|

मनोरंजन[संपादित करें]

1. पिलीवेशा (बाघ न्रत्य)

2. कोरीकत्ता (मुर्गा लड़ाई)

3. कम्ब्ला (भैंस दौड़)

4. यक्शागना (लोकनृत्य)