मेरी हानिकारक बीवी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मेरी हानिकारक बीवी
शैली प्रेम,
नाटक,
हास्य
निर्माण का देश भारत
भाषा(एं) हिन्दी
सत्र संख्या 1
प्रकरणों की संख्या 100[1]
निर्माण
निर्माता सोनाली जफर,
आमिर जफर
स्थल मुंबई
वाराणसी[2]
कैमरा सेटअप बहु-कैमरा
प्रसारण अवधि लगभग 22 मिनट
निर्माण कंपनी फूल हाउस मीडिया
वितरक ज़ी मनोरंजन उद्योग
प्रसारण
मूल चैनल एंड टीवी
छवि प्रारूप 576आई (एसडीटीवी)
1080आई (एचडीटीवी)
मूल प्रसारण दिसम्बर 4, 2017 (2017-12-04) – वर्तमान
कालक्रम
इसके पहले वारिस[3]

मेरी हानिकारक बीवी एक भारतीय हिन्दी धारावाहिक है, जिसका प्रसारण एंड टीवी पर होने वाला है। इसमें मुख्य किरदार में करन सूचक और जिया शंकर हैं। इसका निर्माण आमिर और सोनाली जफर ने किया है। इसमें नासिर खान, सुचेता खन्ना और अंजलि मुखी भी काम कर रहे हैं।

कहानी[संपादित करें]

इसकी कहानी बनारस से शुरू होती है, जहाँ अखिलेश (करन सूचक) अपनी माँ पुष्पा (सुचेता खन्ना) के साथ रहता है। अखिलेश के पिता, बृजेश (नासिर खान) मुंबई में काम करते हैं, इस कारण घर से दूर रहना पड़ता है। एक दिन कैंप के लिए इरा (जिया शंकर) बनारस आती है, जहाँ उसकी मुलाक़ात कई बार अखिलेश से होती है। अखिलेश कुछ बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने कैंप में ले जाता है, जहाँ इरा उसे कई बच्चों के साथ देखती है। अभिलेश को डर लगता है कि यदि वो कहे कि वो बच्चों का पिता नहीं है तो वो उन्हें पोलियो की दवा नहीं पिलाएगी, इस कारण वो बोल देता है कि ये सब उसके ही बच्चे हैं।

बाद में अपने पिता को कई सालों से घर न आता देख वो और उसकी माँ मुंबई के लिए रवाना हो जाते हैं। मुंबई में अखिलेश की मुलाक़ात फिर से इरा से हो जाती है। उसे ये भी पता चलता है कि बृजेश ने दूसरी शादी कर ली है। बाद में जब सभी को सच्चाई पता चल जाती है तो बृजेश वहाँ से भाग निकलता है। वो अपनी सारी संपत्ति घर के पहले बच्चे को देने वाली वसीयत छोड़ जाता है। अखिलेश के सौतेले भाई अस्पताल में खून की जरूरत होती है, अखिलेश उसे अपना खून देने के लिए जब उस कमरे की ओर जाता है, तब इरा उसे देख लेती है। इरा को लगता है कि वो नसबंदी ऑपरेशन के लिए आया है। वो उसका ऑपरेशन कर देती है।

इरा अपना पहला ऑपरेशन कर के खुश होती है, पर बाद में उसे पता चलता है कि अखिलेश की अब तक शादी भी नहीं हुई है और वो बस अपना खून देने के लिए वहाँ आया था। उस ऑपरेशन की खबर सामने आने के बाद अखिलेश की शादी टूट जाती है। अखिलेश के शादी के टूटने और उसके ऑपरेशन वाली खबर के कारण उसकी माँ बीमार पड़ जाती है। देवीना (अंजलि मुखी) खुश हो जाती है कि अब सारी संपत्ति उसे और उसके बच्चों के पास ही रहेगी। इरा को जब पता चलता है कि उसके कारण अखिलेश की शादी टूट गई और माँ बीमार पड़ गई है तो वो अपनी गलती को ठीक करने के लिए अखिलेश से कहती है कि वो जब तक उसे ठीक नहीं कर देती, तब तक वो शादी का नाटक करेंगे, जिससे उसकी माँ ठीक हो जाये और ऑपरेशन के बाद वो चले जाएगी। अखिलेश शादी से इंकार कर देता है, पर अपनी माँ के खुशी के लिए बाद में मान जाता है।

जब इस बात का पता इरा के पिता, वल्लभ (राजू श्रेष्ठ) को चलता है तो एक गंवार इंसान से उसकी बेटी शादी करेगी सोच कर ही वो आग बबूला हो जाता है। उसकी बेटी उसे समझाती है कि ये सब बस नाटक है, उसकी गलती के कारण उसने अखिलेश का नसबंदी ऑपरेशन कर दिया था, इस कारण जब तक दुबारा ऑपरेशन न हो जाये, वो वहाँ शादी का नाटक करेगी। वो इस शर्त पे मान जाता है कि बाद में इरा उसके पसंद के लड़के से ही शादी करेगी। उन दोनों की शादी हो जाती है।

छुटकी, जिसके साथ अखिलेश की पहले शादी तय हुई थी, उसे पता चलता है कि अखिलेश और इरा की शादी बस दिखावा है और इरा ने ही उसकी नंसबंदी का ऑपरेशन किया था। इरा उन दोनों को वापस मिलाने की कोशिश करती है, पर अखिलेश इंकार कर देता है। छुटकी ऐसा दिखाती है कि उसने इरा का अपहरण कर लिया है, पर बाद में अखिलेश को पता चलता है कि वो झूठ बोल रही है। छुटकी उससे कहती है कि वो इरा से प्यार करने लगा है। अखिलेश को एहसास हो जाता है कि वो इरा से प्यार करने लगा है। वो अपनी दिल की बात इरा को बताने की कोशिश करते रहता है।

कलाकार[संपादित करें]

मुख्य
ये गाँव में रहने वाला एक सीधा-सादा लड़का है, जो हर किसी के मदद करने हमेशा तैयार रहता है और इसी वजह मुंबई में अपने सौतेले भाई को खून देने के चक्कर में गलती से शादी होने से पहले ही अपना नसबंदी ऑपरेशन करा बैठता है, और बाद में उसी डॉक्टर से प्यार करने लगता है।
  • जिया शंकर — इरावती "इरा" अखिलेश पांडे
इसका एक मात्र लक्ष्य अच्छा डॉक्टर बनने का ही होता है, जब तक कि ये गलती से अखिलेश का शादी से पहले ही नसबंदी ऑपरेशन नहीं कर देती है। उस गलती को ठीक करने के लिए ये उसके साथ शादी कर लेती है और उस ऑपरेशन को वापस करने के लिए प्रयास करती है।
अन्य
  • सुचेता खन्ना — पुष्पा बृजेश पांडे, बृजेश की पहली पत्नी और अखिलेश की माँ
पुष्पा गांव में रहने वाली सीधी-सादी महिला है, जो अपने पति से मिलने के लिए अपने बेटे के साथ मुंबई चले जाती है।
  • पलक पुरस्वानी — भूमि बृजेश पांडे, बृजेश और देवीना की बेटी
  • नासिर खान — बृजेश पांडे, पुष्पा और सुषमा का पति
गांव में अपनी पहली बीवी पुष्पा और बच्चे को छोड़ कर शहर में दूसरी शादी कर लेता है। जब सभी को दोनों शादियों का पता चलता है तो ये फरार हो जाता है। फरार होने के साथ साथ अपने वसीयत में ये लिख देता है कि घर के पहले बच्चे को ही उसकी सारी जायदाद मिलेगी।
वल्लभ के बस दो ही सपने होते हैं, एक तो अपनी बेटी को एक बहुत बड़ा डॉक्टर बनते देखना और दूसरा कि उसकी शादी किसी अच्छे से पढ़े लिखे लड़के के साथ हो जाए। इस कारण ये अखिलेश को बिल्कुल भी पसंद नहीं करता है, क्योंकि इसे लगता है कि ये इरा के डॉक्टर बनने के रास्ते में सबसे बड़ा कांटा है।

वैष्णवी प्रजापति _इरा ओर अखिलेश की संस्कारी बेटी!

  • हेतल पुनिवाला — लखन

निर्माण[संपादित करें]

इसके किरदार हेतु राजू श्रेष्ठ को चुना गया। उनसे बात करने पर उन्होंने कहा कि "हाँ, मैं इसमें काम कर रहा हूँ, लेकिन चैनल वालों ने इसके बारे में बात करने से मना किया है। इस कारण इसकी और जानकारी नहीं दे सकता"।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Meri Hanikarak Biwi completes 100 episodes; cast celebrates with a cake".
  2. "फिर पर्दे पर आएगी काशी की कहानी, इस चैनल पर प्रसारित होगा धारावाहिक..." वाराणसी, उत्तर प्रदेश, भारत: पत्रिका. 23 नवम्बर 2017. अभिगमन तिथि 31 जुलाई 2018.
  3. "'Meri Hanikarak Biwi' to replace 'Waaris' on &TV ('वारिस' का जगह एंड टीवी पर 'मेरी हानिकारक बीवी' लेने वाला है।)" (अंग्रेज़ी में). बिज़ एशिया लाइव. 23 नवम्बर 2017. अभिगमन तिथि 31 जुलाई 2018. Italic or bold markup not allowed in: |publisher= (मदद)

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]