मेड़ता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(मेड़ता सिटी से अनुप्रेषित)
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
मेड़ता
Merta City
मेड़ता में मीराबाई स्मारक
मेड़ता में मीराबाई स्मारक
मेड़ता is located in राजस्थान
मेड़ता
मेड़ता
राजस्थान में स्थिति
निर्देशांक: 26°39′00″N 74°01′59″E / 26.650°N 74.033°E / 26.650; 74.033निर्देशांक: 26°39′00″N 74°01′59″E / 26.650°N 74.033°E / 26.650; 74.033
देश भारत
प्रान्तराजस्थान
ज़िलानागौर ज़िला
जनसंख्या (2011)
 • कुल46,070
भाषा
 • प्रचलितराजस्थानी, मारवाड़ी, हिन्दी
समय मण्डलभारतीय मानक समय (यूटीसी+5:30)
चतुर्भुजनाथ मीरा मन्दिर

मेड़ता भारत के राजस्थान राज्य के नागौर ज़िले में स्थित एक नगर है।[1][2]

विवरण[संपादित करें]

मेड़ता नगर राजस्थान राज्य के मध्यवर्ती नगर जोधपुर से 100 मील दूर एक तहसील एवं उपखण्‍ड मुख्‍यालय है जो लगभग सन् 1460 में स्थापित यह शहर एक समय में महत्त्वपूर्ण व्यापार का केन्द्र था। यहां कभी मेडतिया राठौडो का राज हुवा करता था । जो की राव दुदा के वंसज है। मेड़ता प्रसिद्ध कृष्ण भक्त-कवयित्री मीराबाई का जन्म स्थान माना जाता है। यहाँ राजपूत काल का एक दुर्ग है। 1562 ई. में इस दुर्ग को अकबर ने जीता था। नन्दलाल डे के अनुसार इसका प्राचीन भाग मार्तिकावत है। इसके आस-पास के क्षेत्रों में कई युद्ध हुए थे, जिनमें 1790 ई. में जयपुर और जोधपुर राज्यों की सेनाओं पर मराठों की विजय शामिल है। यहाँ पर चारभुजा नाथ, रावदुदा गढ, मीरा महल, मालफोर्ट व कई स्मारक प्रस्तर स्तम्भ स्थित हैं। यहाँ अकबर द्वारा निर्मित एक मस्जिद भी स्थित है।

मेड़ता तहसील की जनसंख्या 250000 है जिसमे से 95% हिन्दू, 5% मुसलमान धर्मावलम्बी हैं।

मालकोट[संपादित करें]

मालकोट दुर्ग का निर्माण रावमालदेव ने 1518 ई. के आसपास कराया था।

मेड़ता शहर की दक्षिण दिशा में पौराणिक और ऐतिहासिक कुण्डल सरोवर के किनारे मालकोट दुर्ग स्थित है। यह एक जल दुर्ग है। यहां कई लड़ाईयां लड़ी गई थीं। मुख्य रूप से राठौड़-मराठा युद्ध में चलाए गई तोपों के गोलों के निशान आज भी इस दुर्ग की प्राचीरों और बुर्जों पर स्पष्टता से देखे जा सकते हैं। इस दुर्ग का उपयोग सैन्य छावनी के रूप में किया जाता था। सुरक्षा की दृष्टि से इस दुर्ग के चारों ओर गहरी खाईयों में कुण्डल सरोवर का पानी भरा रहता था। दुर्ग में गुर्जर प्रतिहार काल की एक बावड़ी भी मौजूद है जो शिल्पकला की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। यह दुर्ग पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित है।

दर्शनीय स्थल एवं स्मारक[संपादित करें]

  • मालकोट या मेडता का दुर्ग
  • मीराबाई मंदिर
  • मीरा स्मारक
  • चारभुजानाथ मंदिर
  • मीरा महल और विष्णु सरोवर

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Lonely Planet Rajasthan, Delhi & Agra," Michael Benanav, Abigail Blasi, Lindsay Brown, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012332
  2. "Berlitz Pocket Guide Rajasthan," Insight Guides, Apa Publications (UK) Limited, 2019, ISBN 9781785731990