मेक इन ओडिशा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मेक इन ओडिशा

मेक इन ओडिशा ओड़ीशामें औद्योगिक विकास केलिये ओडिशा सरकारके द्वारा शुरू की गयी एक योजना हे । [1] प्रमुख निवेशकों को राज्य में कर रहे हैं, एनटीपीसी, एमसीएल, सेल, टाटा स्टील, टीसीएस, अदानी, जेएसपीएल, पीपीएल, आईओसीएल और कई और अधिक.[2] 80 से अधिक कंपनियों के निवेश और राज्य प्राप्त हुआ है निवेश के लायक Rs 2,03,270 करोड़ (30 बी अमरीकी डालर). प्रमुख निवेश के क्षेत्र में कर रहे हैं, यह खाद, पेट्रो रसायन, खाद्य प्रसंस्करण, स्वास्थ्य, बुनियादी सुविधाओं, ईएसडीएम, धातु और खनिज, विनिर्माण, कपड़ा और पर्यटन. बनाने में ओडिशा कॉन्क्लेव होता है, द्वि-सालाना । वहाँ रहे हैं दो कर ओडिशा में देखता है के साथ पूरा करोड़ रुपए के निवेश प्रस्तावों और तीसरे संस्करण के बीच आयोजित किया जाएगा 30 नवंबर से 4 दिसंबर 2020.[3]

घटनाओं[संपादित करें]

पहली बनाने में ओडिशा कॉन्क्लेव[4] द्वारा आयोजित किया गया था ओडिशा सरकार के विभाग, औद्योगिक नीति एवं संवर्धन (डीआईपीपी) और भारत सरकार और भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के बीच 30 सितंबर 2016 के लिए 2 दिसंबर 2016 में भुवनेश्वर, ओडिशा में । मुख्य उद्देश्य के सम्मेलन में प्रदर्शन करने के लिए है विनिर्माण कौशल का राज्य है और निवेश के अवसरों के पार ध्यान केंद्रित क्षेत्रों है । जो कर रहे हैं:[5][6]

  • रसायन, पेट्रोरसायन और प्लास्टिक
  • सहायक और नीचे की ओर में धातु क्षेत्र
  • वस्त्र और परिधान
  • खाद्य प्रसंस्करण सहित समुद्री भोजन
  • इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण और यह और
  • पर्यटन

में कॉन्क्लेव ओडिशा सरकारों प्राप्त हुआ है 28 प्रस्तावों के 18,434 करोड़ रुपए के निवेश की क्षमता के साथ 27,565 नौकरियाँ पीढ़ी है । [7] पहला संस्करण मिला 124 निवेश उद्देश्य या प्रस्तावों की तुलना में अधिक मूल्य रुपये 2 लाख करोड़ रुपये है, और रोजगार के अवसरों के लिए एक लाख से अधिक लोगों को है । [8]

बनाने में ओडिशा सम्मेलन 2018[संपादित करें]

के दूसरे संस्करण बनाने में ओडिशा से आयोजित किया गया था 11 नवंबर 2018 के लिए 15 जुलाई 2018 में भुवनेश्वर, ओडिशा में । [9] छह देशों, जापान, चीन, इटली, जर्मनी, सऊदी अरब और दक्षिण कोरिया के साथ-साथ उद्योगपति भारत से भाग लिया था इस कॉन्क्लेव.[10]

शीर्ष दो निवेश प्रस्तावों को प्राप्त हुए थे से हल्दिया पेट्रोकेमिकल्स (रुपये 70,000 करोड़), उर्वरक, रिफाइनरी, पेट्रो रसायन, रसायन और प्लास्टिक विभाग और क्षमता के साथ रोजगार के 31,000 है । [11]

जिंदल स्टील और पावर ले जा रहे हैं, उनके 6 लाख टन के इस्पात संयंत्र के लिए एक 20 मिलियन टन इस्पात संयंत्र के लिए और अपने निवेश रुपये से 45,000 करोड़ रुपये के लिए 100,000 करोड़ से रोजगार 50,000 लोगों को रोजगार के लिए 1,00000 लोगों के[12]

में गोष्ठी, मुकेश अंबानी ने घोषणा की है कि, रिलायंस इंडस्ट्रीज का निवेश करेगी 3000 करोड़ रुपए ($410 लाखों लगभग..) ओडिशा में अगले तीन वर्षों में.[13] टाटा संस समूह के अध्यक्ष नटराजन चंद्रशेखरन भी आश्वासन दिया 25,000 रुपए ($3.45 अरब डॉलर लगभग.) करोड़ निवेश. बिड़ला समूह के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला, के निवेश की घोषणा की 2 अरब डॉलर.[14][15]

इस कॉन्क्लेव अब देखा निवेश प्रस्तावों के लायक Rs 4.19 लाख करोड़ रुपए की परियोजनाओं के लिए भर में 15 क्षेत्रों बना सकते हैं कि चारों ओर 5.91 लाख संभावित नौकरियों.[11]

बनाने में ओडिशा कॉन्क्लेव 2020[संपादित करें]

तीसरे संस्करण के कॉन्क्लेव आयोजित किया जाएगा, के बीच 30 नवम्बर और 4 दिसम्बर, 2020.[3]

यह भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. text. "Invest Odisha". मूल से 27 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जून 2020.
  2. "Make in Odisha receives Rs 2 lakh crore investment intent - Firstpost". 2 December 2016. मूल से 19 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 नवंबर 2018.
  3. www.ETEnergyworld.com. "Make in Odisha: Rs 4.1 lakh crore investment proposals received - ET EnergyWorld". ETEnergyworld.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 19 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-19. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> अमान्य टैग है; ":0" नाम कई बार विभिन्न सामग्रियों में परिभाषित हो चुका है
  4. "Maiden Make-In-Odisha conclave attracts investment of Rs 2.03 lakh crore". The New Indian Express. मूल से 11 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-11.
  5. "Make in Odisha Conclave - Make In India". www.makeinindia.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 3 दिसंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-11.
  6. "Make In Odisha Conclave Brochure".
  7. IANS (2017-02-23). "Odisha receives 28 project proposals after Make in Odisha conclave". Business Standard India. मूल से 11 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-11.
  8. "Make in Odisha Conclave 2018: Ambani, Tata, Birla, others commit investments over Rs 1.38 lakh cr on first day - Firstpost". www.firstpost.com. मूल से 19 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-19.
  9. "Make In Odisha Conclave 2018". mio.investodisha.gov.in. मूल से 11 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-11.
  10. "Six countries to attend Make in Odisha 2018, Mukesh Ambani to be star speaker". The New Indian Express. मूल से 21 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-11.
  11. "Make in Odisha 2018: Rs 4.1 lakh crore investment goals achieved" (अंग्रेज़ी में). मूल से 19 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-19. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> अमान्य टैग है; ":1" नाम कई बार विभिन्न सामग्रियों में परिभाषित हो चुका है
  12. "Make in Odisha: Tata, Jindal Steel commit nearly Rs 1 lakh crore each; RIL to pump in additional Rs 3,000 crore". The Indian Express (अंग्रेज़ी में). 2018-11-13. मूल से 19 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-19.
  13. "RIL commits Rs 3,000 crore of fresh investments at 'Make in Odisha' conclave". The Economic Times. 2018-11-12. मूल से 13 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-13.
  14. "Make In Odisha: Ambani assures Rs 3000 Cr investment; Tata Sons Rs 25000 Cr | OTV". odishatv.in (अंग्रेज़ी में). मूल से 14 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-14.
  15. Bureau, Odisha Sun Times. "Make in Odisha: Hindalco to invest Rs 6,000 cr to set up downstream facilities | OdishaSunTimes.com". odishasuntimes.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 14 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-11-14.