मुस्लिम एजुकेशनल सोसाइटी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

मुस्लिम एजुकेशनल सोसाइटी 1964 में स्थापित एक शैक्षिक संगठन है। एमईएस केरल भर में 150 शैक्षिक सुविधाओं का संचालन करता है, जिसमें 28 कॉलेज, 12 माध्यमिक विद्यालय और 36 सीबीएसई स्कूल शामिल हैं और इसमें 100,000 से अधिक छात्र हैं। [1] 2019 में इस सोसाइटी ने अपनी संस्थाआों में चेहरे पर पर्दा डालने पर प्रतिबंध लगा दिया, जिस निर्णय पर काफी विवाद हुआ। [2] [3] [4] [5]

अग्रिम पठन[संपादित करें]

यह भी देखें[संपादित करें]

  • एमईएस असमाबी कॉलेज
  • डॉ. गफूर मेमोरियल एमईएस मम्पड कॉलेज
  • एमईएस केवयम कॉलेज, वलंचेरी
  • एमईएस पोन्नानी कॉलेज, पोन्नानीक
  • विदेश मंत्रालय इंजीनियरिंग कॉलेज, पेरिन्थालमन्ना
  • एमईएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग
  • एमईएस कल्लाडी कॉलेज
  • मेस रज़ीना मैट्रिकुलेशन हायर सेकेंडरी स्कूल

संदर्भ[संपादित करें]

बाहरी संबंध[संपादित करें]

  1. "Muslim Educational Society in Kerala told to withdraw hijaab ban". Hindustan Times (अंग्रेज़ी में). 2019-05-16. अभिगमन तिथि 2019-08-05.
  2. "Muslim Educational Society's Decision to ban use of face veils hailed". National Herald (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-08-05.
  3. Emmanuel, Gladwin EmmanuelGladwin; May 4, Mumbai Mirror | Updated; 2019; Ist, 17:40. "Muslim Educational Society chief gets threat call for banning burqa". Bangalore Mirror (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-08-05.
  4. Basheer, K. p m (2019-05-02). "Muslim Education Society curbs veils in its institutions". The Hindu (अंग्रेज़ी में). आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0971-751X. अभिगमन तिथि 2019-08-05.
  5. "Behind Kerala veil ban, story of uniform, two girls out of school for a year". The Indian Express (अंग्रेज़ी में). 2019-05-05. अभिगमन तिथि 2019-08-05.