मुग्धबोध

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुग्धबोध, संस्कृत व्याकरण का ग्रन्थ है जिसके रचयिता वोपदेव है। इसकी रचना तेरहवीं शताब्दी में हुई थी।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]