मिशनरी पोजीशन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मिशनरी पोजीशन की एक सामान्य स्थिति को दर्शाता चित्र

मिशनरी पोजीशन या मिशनरी स्थिति (अंग्रेज़ी: Missionary position) एक प्रकार की संभोग करने की स्थिति होती है, जिसमें पुरुष की स्थिति ऊपर होती है। इस स्थिति में सामान्यतः महिला अपने पीठ के बल लेटी होती है और पुरुष उसके ऊपर होता है। वे एक दूसरे को देखते हुए योनि संभोग शुरू करते हैं। इस स्थिति का इस्तेमाल अन्य प्रकार के संभोग में भी किया जाता है। इसे आमतौर पर विषमलैंगिक यौन गतिविधि से जोड़कर देखा जाता है।

प्रकार[संपादित करें]

सामान्य अवस्था[संपादित करें]

इस सामान्य स्थिति या अवस्था में महिला बिस्तर या अन्य सतह पर अपनी पीठ के बल लेट जाती है और उसके पैर आराम से फैले होते हैं और पैरों के तलवे आराम करते हैं।

लोकप्रियता[संपादित करें]

लोगों में यह अवस्था आमतौर पर उपयोग में लाये जाने वाली अवस्था है। अमेरिका में अमेरिकी महिलाओं पर हुए एक शोध में शोध करने वाले अल्फ्रेड किंसे ने बताया की 91% शादीशुदा महिलाओं ने कहा कि वे इस अवस्था का अधिक इस्तेमाल करती हैं। वहीं 9 प्रतिशत महिलाओं ने कहा कि वे सिर्फ और सिर्फ इसी अवस्था का इस्तेमाल करती हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]