मिथिला राज्य आंदोलन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
भारत में मिथिला क्षेत्र

मिथिला राज्य आंदोलन एक ३०० साल पुराना आंदोलन है जो भारत में एक अलग मिथिला राज्य की वकालत करता है। इस आंदोलन ने १९०२ ई. में गति पकड़ी, जब ब्रिटिश भारत सरकार के एक अधिकारी सर जॉर्ज ग्रियर्सन ने भाषा आधारित सर्वेक्षण कर मिथिला राज्य का नक्शा तैयार किया। १८८१ ई. में ब्रिटिश भारत सरकार के शब्दकोश में मिथिला शब्द जोड़ा गया। प्रस्तावित मिथिला राज्य में अंतर्राष्ट्रीय मैथिली परिषद के संस्थापक, अध्यक्ष डॉ. धनकर ठाकुर के अनुसार, बिहार के २४ जिलों और झारखंड के छह जिलों, कुल ३० जिलों को शामिल किया गया है, जिनकी आबादी लगभग ७ करोड़ है। वहीं, क्षेत्रफल ७० हजार वर्ग किमी है।