मालदीव राष्ट्रपति चुनाव, 2018

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
मालदीव राष्ट्रपति चुनाव, 2018
मालदीव
← 2013 23 सितम्बर 2018
मतदान %89.22%
  Abdulla Yameen Abdul Gayoom in January 2014.jpg
नामित व्यक्ति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह अब्दुल्ला यामीन
पार्टी मालदिवियन डेमोक्रेटिक पार्टी प्रोग्रेसिव पार्टी ऑफ़ मालदीव
प्रतिद्वंदी फैसल नसीम मुहम्मद शहीम
लोकप्रिय मत 134,705 96,052
प्रतिशत 58.38% 41.62%

राष्ट्रपति चुनाव से पहले

अब्दुल्ला यामीन
प्रोग्रेसिव पार्टी ऑफ़ मालदीव

निर्वाचित राष्ट्रपति

इब्राहिम मोहम्मद सोलिह
मालदिवियन डेमोक्रेटिक पार्टी

मालदीव में राष्ट्रपति चुनाव 23 सितम्बर 2018 को सम्पन्न हुए, जिसमे प्रोग्रेसिव पार्टी ऑफ़ मालदीव की तरफ़ से वर्तमान राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन और विपक्ष के संयुक्त उम्मीद्वार तथा मालदिवियन डेमोक्रेटिक पार्टी के इब्राहिम मोहम्मद सोलिह के मध्य मुकाबला था।

चुनाव परिणामों में सोलिह की आश्चर्यजनक जीत हुई और वे 58.3% मत पाकर मालदीव के राष्ट्रपति बनें।[1] वे अपना कार्यालय 17 नवम्बर 2018 को ग्रहण करेंगे। सोलिह देश के तीसरे लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित राष्ट्रपति हैं। उनसे पहले 2008 में मोहम्मद नशीद मॉमून अब्दुल गय्यूम को हराकर लोकतांत्रिक रूप से राष्ट्रपति बने थे।

चुनाव प्रक्रिया[संपादित करें]

मालदीव के राष्ट्रपति का चुनाव द्वि चरणीय पद्धति से होता है; अगर चुनावों में दो से ज्यादा उम्मीद्वार हो तथा किसी को प्रथम चरण में 50% से अधिक मत न मिले तो द्वितीय चरण सम्पन्न होता है।[2]

उम्मीद्वार[संपादित करें]

इन चुनावों में दो उम्मीद्वार थे। वर्तमान राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन सत्तारूढ़ प्रोग्रेसिव पार्टी ऑफ़ मालदीव के उम्मीद्वार थे जबकि विपक्ष के संयुक्त उम्मीद्वार इब्राहिम मोहम्मद सोलिह थे जो कि विपक्षी दल मालदिवियन डेमोक्रेटिक पार्टी से थे।[3][4]

चुनाव अभियान[संपादित करें]

पदस्थ राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने चुनावों में आर्थिक विकास तथा इस्लामीकरण को बनाया था,[5] और उन्होंने विपक्षी दलों पर आरोप लगाया कि वे ईसाई पादरियों द्वारा समर्थित हैं।[6] उनकी सरकार चीन सरकार की करीबी मानी जाती है क्योंकि उन्होंने चीन सरकार के साथ मुक्त व्यापार अनुबंध पर हस्ताक्षर किया था तथा विनिर्माण परियोजनाओं के लिये चीनी धन उधार लिया था जबकि विपक्ष भारत से रिश्ते सुधारने की मांग कर रहा था।[7]

चुनावों से पूर्व यामीन ने सभी नागरिकों के लिये घर के साथ ही यातायात व बिल पर लगने वाले दण्डों को खत्म करने का वादा किया था।[6] इस क्रम में सैकड़ों बंदियों को भी मुक्त किया गया।[6]

चुनाव संचालन[संपादित करें]

चुनावों से पूर्व यामीन ने अपने समर्थक अहमद शरीफ़ को मुख्य चुनाव आयुक्त बना दिया, जिससे चुनावों में मतों के साथ छेड़छाड़ होने की सम्भावना उत्पन्न हो गयी।[8] अन्तरराष्ट्रीय पर्यवेक्षकों के चुनाव निगरानी पर रोक लगा दिया गया तथा विदेशी मीडिया पर भी कठोर प्रतिबन्ध लगाये गये।[7]

पुलिस ने चुनाव के एक दिन पूर्व ही डेमोक्रेटिक पार्टी के कार्यालय पर छापा मारा तथा दावा किया कि वे "पैसे बाँटकर मत खरीदने" के मामले की जाँच करने आये हैं। अमेरिकी तथा ब्रितानी सरकार ने इस छापेमारी की निन्दा की।[6]

चुनाव के दिन मतदान केन्द्रों पर भारी भीड़ के कारण मतदान को तीन घण्टे के लिये बढ़ा दिया गया।.[7]

परिणाम[संपादित करें]

चुनाव पार्टी मत %
इब्राहिम मोहम्मद सोलिह मालदिवियन डेमोक्रेटिक पार्टी 134,705 58.38
अब्दुल्ला यामीन प्रोग्रेसिव पार्टी ऑफ़ मालदीव 96,052 41.62
अमान्य मत 3,132
कुल 233,889 100
पंजीकृत मतदाता/मत-प्रतिशत 262,135 89.22
स्रोत: मालदीव निर्वाचन आयोग

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Maldives opposition candidate wins pres polls Archived 2018-09-23 at the Wayback Machine अवास, 23 सितम्बर 2018
  2. Republic of Maldives: Election for President Archived 2018-09-20 at the Wayback Machine IFES
  3. Maldives opposition selects veteran Ibrahim Solih for Sept presidential poll Archived 2018-09-24 at the Wayback Machine रायटर्स, 30 जून 2018
  4. Maldives ex-leader Mohamed Nasheed to contest elections Archived 2018-03-08 at the Wayback Machine बीबीसी न्यूज़, 2 फरवरी 2018
  5. Maldives police remove 'anti-Islamic idols' in luxury resort raid Archived 2018-09-27 at the Wayback Machine अल जज़ीरा, 22 सितम्बर 2018
  6. Maldives police raid opposition headquarters on eve of election Archived 2018-09-27 at the Wayback Machine अल जज़ीरा, 22 सितम्बर 2018
  7. Maldives election: Ibrahim Mohamed Solih claims victory Archived 2018-09-27 at the Wayback Machine बीबीसी न्यूज़, 23 सितम्बर 2018
  8. Maldives voters fear fraud as high-stakes election looms Archived 2018-09-27 at the Wayback Machine अल जज़ीरा, 19 सितम्बर 2018