मानव तस्करी की घटनाओं के आधार पर भारत के राज्यों और संघ क्षेत्रों की सूची

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

इस सूची में भारत के राज्य और केन्द्र-शासित प्रदेश 2012 में मानव तस्करी की घटनाओं के आधार पर क्रमित हैं, और अपराध-सिद्धि पर आधारित है। यह सूची भारत सरकार के राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो द्वारा प्रकाशित 2012 भारत में अपराध प्रतिवेदन से संकलित की गई है।[1]

इस प्रतिवेदन के अनुसार मानव तस्करी की घटनाओं के मामले में तीन अग्रणी राज्य हैं उत्तर प्रदेश, तमिल नाडु और केरल[1]

भारत

के राज्य और संघ क्षेत्र

Flag of India.svg
क्षेत्रफल | वाहन घनत्व | लिंगानुपात
जनसंख्या | राजधानियाँ | राष्ट्रीय महामार्ग
उच्चतम बिन्दु | बाल पोषाहार | बेरोज़गारी दर
जीडीपी | अपराध दर | आर्थिक मुक्ति
कर राजस्व | गृह स्वामित्व | लोकसभा सीटें
संक्षिप्त नाम | संस्थागत प्रसव | मानव तस्करी
प्राकृतिक जन्म दर | जीवन प्रत्याशा | मतदाता संख्या
टीकाकरण | | निर्धनता दर
साक्षरता दर | बलात्कार दर | दंगा दर
बिजली | पेयजल उपलब्धता | विद्यालय नामांकन दर
राजधानियाँ | महिला सुरक्षा | एच॰आई॰वी जागरुकता
मीडिया की पहुँच | नाम की व्युत्पत्ति | परिवार का आकार
अल्पभार जनसंख्या | टीवी स्वामित्व | ऊर्जा उत्पादन क्षमता
इस संदूक को: देखें  संवाद  संपादन
स्थान राज्य 2012 में अपराध-सिद्ध मामलों की संख्या[1]
1 उत्तर प्रदेश 221
2 तमिल नाडु 153
3 केरल 105
4 कर्णाटक 100
5 महाराष्ट्र 20
5 पश्चिम बंगाल 20
5 हरियाणा 20
5 बिहार 20
5 छत्तीसगढ़ 20
5 राजस्थान 20
6 आन्ध्र प्रदेश 13
7 पंजाब 11
8 मध्य प्रदेश 10
9 सिक्किम 4
10 उत्तराखण्ड 3
11 नागालैण्ड 2
11 मिज़ोरम 2
11 झारखण्ड 2
11 गोवा 2
11 गुजरात 2
12 असम 1
12 उड़ीसा 1
13 जम्मू और कश्मीर 0
13 अरुणाचल प्रदेश 0
13 त्रिपुरा 0
13 हिमाचल प्रदेश 0
13 मणिपुर 0
13 मेघालय 0
संघक्षेत्र दिल्ली 32
संघक्षेत्र पौण्डिचेरी 21
संघक्षेत्र लक्षद्वीप 0
संघक्षेत्र चण्डीगढ़ 0
संघक्षेत्र अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह 0
संघक्षेत्र दादर और नागर हवेली 0
संघक्षेत्र दमन और दीव 0

सन्दर्भ[संपादित करें]