मानव तस्करी की घटनाओं के आधार पर भारत के राज्यों और संघ क्षेत्रों की सूची

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

इस सूची में भारत के राज्य और केन्द्र-शासित प्रदेश 2012 में मानव तस्करी की घटनाओं के आधार पर क्रमित हैं, और अपराध-सिद्धि पर आधारित है। यह सूची भारत सरकार के राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो द्वारा प्रकाशित 2012 भारत में अपराध प्रतिवेदन से संकलित की गई है।[1]

इस प्रतिवेदन के अनुसार मानव तस्करी की घटनाओं के मामले में तीन अग्रणी राज्य हैं उत्तर प्रदेश, तमिल नाडु और केरल[1]

भारत

के राज्य और संघ क्षेत्र

Flag of India.svg
क्षेत्रफल | वाहन घनत्व | लिंगानुपात
जनसंख्या | राजधानियाँ | राष्ट्रीय महामार्ग
उच्चतम बिन्दु | बाल पोषाहार | बेरोज़गारी दर
जीडीपी | अपराध दर | आर्थिक मुक्ति
कर राजस्व | गृह स्वामित्व | लोकसभा सीटें
संक्षिप्त नाम | संस्थागत प्रसव | मानव तस्करी
प्राकृतिक जन्म दर | जीवन प्रत्याशा | मतदाता संख्या
टीकाकरण | | निर्धनता दर
साक्षरता दर | बलात्कार दर | दंगा दर
बिजली | पेयजल उपलब्धता | विद्यालय नामांकन दर
राजधानियाँ | महिला सुरक्षा | एच॰आई॰वी जागरुकता
मीडिया की पहुँच | नाम की व्युत्पत्ति | परिवार का आकार
अल्पभार जनसंख्या | टीवी स्वामित्व | ऊर्जा उत्पादन क्षमता
इस संदूक को: देखें  संवाद  संपादन
स्थान राज्य 2012 में अपराध-सिद्ध मामलों की संख्या[1]
1 उत्तर प्रदेश 221
2 तमिल नाडु 153
3 केरल 105
4 कर्णाटक 100
5 महाराष्ट्र 20
5 पश्चिम बंगाल 20
5 हरियाणा 20
5 बिहार 20
5 छत्तीसगढ़ 20
5 राजस्थान 20
6 आन्ध्र प्रदेश 13
7 पंजाब 11
8 मध्य प्रदेश 10
9 सिक्किम 4
10 उत्तराखण्ड 3
11 नागालैण्ड 2
11 मिज़ोरम 2
11 झारखण्ड 2
11 गोवा 2
11 गुजरात 2
12 असम 1
12 उड़ीसा 1
13 जम्मू और कश्मीर 0
13 अरुणाचल प्रदेश 0
13 त्रिपुरा 0
13 हिमाचल प्रदेश 0
13 मणिपुर 0
13 मेघालय 0
संघक्षेत्र दिल्ली 32
संघक्षेत्र पौण्डिचेरी 21
संघक्षेत्र लक्षद्वीप 0
संघक्षेत्र चण्डीगढ़ 0
संघक्षेत्र अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह 0
संघक्षेत्र दादर और नागर हवेली 0
संघक्षेत्र दमन और दीव 0

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Human Trafficking, Crime in India, 2012". NCRB, Government of India. 2012. अभिगमन तिथि 1 मई 2014. (अंग्रेज़ी)