मानक कटौती

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

आम भारतीय नागरिक अपनी आमदनी में से इंश्योरेंस, सीपीएफ, जीपीएफ, पीपीएफ, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (एनएससी), टैक्स बचाने वाले म्यूचुअल फंड, पांच साल से ज़्यादा की एफ़डी, होम लोन के प्रिंसिपल (मूलधन) जैसे निवेशों में लगा सकता है और ऐसे ही निवेशों को जोड़कर एक लाख रुपए तक के निवेश पर टैक्स में छूट दी जाती है। इस एक लाख रुपए को कुल आय में से घटा दिया जाता है और उसके बाद आयकर का हिसाब लगाया जाता है।