माटी की मूरतें

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

माटी की मूरतें १९४६ में प्रकाशित रामवृक्ष बेनीपुरी द्वारा रचित रेखाचित्र-संकलन है, जिसमें बारह रेखाचित्रों का संकलन किया गया है।

अध्याय[संपादित करें]

इसमें 'ये माटी की मूरतें'[1] नामक भूमिका के अतिरिक्त १२ रेखाचित्र हैं-

  1. रजिया
  2. बलदेव सिंह
  3. सरजू भैया
  4. मंगर
  5. रूपा की आजी
  6. देव
  7. बालगोबिन भगत
  8. भौजी
  9. परमेसर
  10. बैजू मामा
  11. सुभान खाँ
  12. बुधिया
  13. सचिन खेडेकर

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. श्रीरामवृक्ष, बेनीपुरी (2010). माटी की मूरतें. दिल्ली: ज्ञान गंगा. पृ॰ 7. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-93-80183-26-8.