माइक्रोसेटेलाइट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

डीएनए फिंगरप्रिंट विशिष्ट डीएनए क्रम का प्रयोग करता है, जिसे माइक्रोसेटेलाइट कहा जाता है। माइक्रोसेटेलाइट डीएनए के छोटे टुकड़े होते हैं। शरीर के कुछ हिस्सों में इनकी संख्या अलग-अलग होती है।[1] ये डीएनए के १-६ आधार-जोड़ों (बेस पेयर) की पुनरावृत्त शृंखलाएं होती हैं। इस पद्धति में किसी व्यक्ति के जैविक अंशो जैसे- रक्त, बाल, लार, वीर्य या दूसरे कोशिका-स्नोतों के द्वारा उसके डीएनए की पहचान की जाती है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. डीएनए फिंगरप्रिंटिंग। हिन्दुस्तान लाइव। १९ जनवरी २०१०