सामग्री पर जाएँ

महावीर जन्म कल्याणक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
तीर्थंकर महावीर जन्म कल्याणक
चौबीसवें जैन तीर्थंकर, भगवान महावीर का जन्म कल्याणक

तीर्थंकर महावीर की प्रतिमा, मदुराई, तमिलनाडु, भारत
विवरण
अन्य नाम महावीर स्वामी जन्म कल्याणक, वर्धमान स्वामी जन्म कल्याणक
तिथि
वीर निर्वाण संवत चैत्र सुद १३
ग्रेगोरियन ०६ अप्रैल २०२० (२,६१९ वाँ जन्मोत्सव)

महावीर स्वामी जन्म कल्याणक चैत्र शुक्ल त्रयोदशी (१३) को मनाया जाता है। यह पर्व जैन धर्म के २४वें तीर्थंकर महावीर स्वामी के जन्म कल्याणक के उपलक्ष में मनाया जाता है। यह जैनों का सबसे प्रमुख पर्व है।

जन्म[संपादित करें]

भगवान महावीर स्वामी का जन्म ईसा से ५९९ वर्ष पूर्व क्षत्रियकुंड , जमुई (बिहार), भारत मे हुआ था। २३वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ जी के निर्वाण (मोक्ष) प्राप्त करने के 188 वर्ष बाद इनका जन्म हुआ था।[1] हर तीर्थंकर के जीवन में पंचकल्याणक मनाए जाते है। गर्भ अवतरण के समय तीर्थंकर महावीर की माता त्रिशला ने 14 शुभ स्वप्न देखे थे जिनका फल राजा सिद्धार्थ ने बताया था।[1]

उत्सव[संपादित करें]

इस महोत्सव पर जैन मंदिरों को विशेष रूप से सजाया जाता है। भारत में कई जगहों पर जैन समुदाय द्वारा अहिंसा रैली निकाली जाती है। इस अवसर पर गरीब एवं जरुरतमंदों को दान दिया जाता है।[2] कई राज्य सरकारों द्वारा मांस एवं मदिरा की दुकाने बंद रखने के निर्देश दिए जाते हैं।[3][4] भारतीय राज्यों में राष्ट्रीय स्तर पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया जाता है।

  1. जैन २०१५.
  2.  http://www.dnaindia.com/mumbai/report-jains-gear-up-for-mahavir-jayanti-tomorrow-2073618  Archived 2015-04-02 at the वेबैक मशीन
  3.  http://www.pressnote.in/Jaisalmer-News-_266079.html  Archived 2015-04-02 at the वेबैक मशीन
  4. "महावीर जयंती कब है? महावीर जयंती का इतिहास | कैसे मनाई जाती है महावीर जयंती?". अभिगमन तिथि 2020-05-31.