आदित्य नारायण सिंह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
काशी राज का ध्वज

कैप्टन महाराजा सर आदित्य नारायण सिंह सन् १९३१ से १९३९ तक काशी राज्य के नरेश रहे। कैप्टन महाराजा आदित्य नारायण सिंह लेफ्टिनेंट कर्नल महाराजा प्रभु नारायण सिंह के पुत्र थे। इनका जन्म 17 नवंबर 1874 को हुआ था। आदित्य नारायण सिंह सन् 1931 में 4 अगस्त को अपने पिता के स्वर्गवास के पश्चात काशी नरेश बने। महाराजा आदित्य नारायण सिंह का विवाह सलेमगढ़ (कुशीनगर) के राजा शेषाद्रि प्रसाद नारायण सिंह की बहन के साथ हुआ था। महाराजा आदित्य नारायण सिंह के देहावसान के पश्चात उनके दत्तक पुत्र विभूति नारायण सिंह काशी नरेश की गद्दी पर आसीन हुए।[1]

उत्तराधिकारी[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "BENARES". royalark.net. Archived from the original on 19 मई 2017. Retrieved 2017-06-12. Check date values in: |archive-date= (help)