महानुभाव पन्थ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

महानुभाव पंथ हिन्दुओं का एक सम्प्रदाय है जिसका प्रवर्तन १२६७ ई. में चक्रधर स्वामी ने किया था। वे एक बड़े समाज सुधारक थे। महानुभाव पंथ के अनुयायी कड़क शाकाहारी होते हैं। वे शराब आदि से सख्त परहेज करते हैं। वह मराठी भाषा के जन्मदाता माने जाते हैं। मराठी भाषा की पहली कवयित्री महदंबा उनकी शिष्या थीं। मराठी के आद्यग्रंथ लीलाचरित्र में चक्रधर स्वामी की जीवनी समाविष्ट है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]