महबूबनगर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
महबूबनगर
Mahbubnagar
మహబూబ్ నగర్
महबूबनगर की तेलंगाना के मानचित्र पर अवस्थिति
महबूबनगर
महबूबनगर
तेलंगाना में स्थिति
निर्देशांक: 16°45′N 78°00′E / 16.75°N 78.00°E / 16.75; 78.00निर्देशांक: 16°45′N 78°00′E / 16.75°N 78.00°E / 16.75; 78.00
ज़िलामहबूबनगर ज़िला
प्रान्ततेलंगाना
देशFlag of India.svg भारत
ऊँचाई498 मी (1,634 फीट)
जनसंख्या (2011)
 • कुल1,57,733
भाषा
 • प्रचलिततेलुगू
पिनकोड509001
दूरभाष कोड08542
वाहन पंजीकरणTS-06[1]

महबूबनगर (Mahbubnagar) भारत के तेलंगाना राज्य के महबूबनगर ज़िले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले का मुख्यालय भी है। इस शहर पालमूर भी कहजाता है। महबूबनगर हैदराबाद से १०० किलॉमीटर दूरी पर है। तेलंगाना में सबसे बडे जिलों में महबूबनगर द्वितीय स्थान पर है। हैदराबाद के दक्षिण-पश्चिम में मध्य रेलमार्ग पर स्थित महबूबनगर सड़क मार्ग का भी केंद्र है। इस शहर में एक महाविद्यालय भी है। 18,419 वर्ग किमी क्षेत्रफल वाला महबूबनगर ज़िला दक्कन के पठार पर स्थित है और दक्षिण में कृष्णा नदी से घिरा है। कहा जाता है कि गोलकुंडा के प्रसिद्ध हीरे इसी ज़िले से मिले थे।[2][3][4]

उद्योग और व्यापार[संपादित करें]

कपास की ओटाई, गांठ बनाने का काम, तेल और चावल मिल यहाँ के प्रमुख उद्योग है। दक्षिण-पूर्व में स्थित वनाच्छादित पर्वतों से सागौन, आबनूस और गोंद प्राप्त होता है। जबकि मुख्यत: बलुई मिट्टी में ज्वार-बाजरा, तिलहन और चावल की खेती होती है। यहाँ के औद्योगिक केंद्रों में नारायणपेट (जहाँ रेशम और साड़ी का उत्पादन होता है) देवरकोंडा और नगर कुर्नूल शामिल है।

चित्रदीर्घा[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "District Codes". Government of Telangana Transport Department. अभिगमन तिथि 4 September 2014.
  2. "Lonely Planet South India & Kerala," Isabella Noble et al, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012394
  3. "Hand Book of Statistics, Andhra Pradesh," Bureau of Economics and Statistics, Andhra Pradesh, India, 2007
  4. "Contemporary History of Andhra Pradesh and Telangana, AD 1956-1990s," Comprehensive history and culture of Andhra Pradesh Vol. 8, V. Ramakrishna Reddy (editor), Potti Sreeramulu Telugu University, Hyderabad, India, Emesco Books, 2016