महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय, रायपुर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय
Mahant Ghasidas Sangrahalaya Raipur (1).jpg
महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय
स्क्रिप्ट त्रुटि: "auto" फंक्शन मौजूद नहीं है।
स्क्रिप्ट त्रुटि: "autocaption" फंक्शन मौजूद नहीं है।
अवस्थितिरायपुर , भारत
प्रकारपुरातात्विक संग्रहालय
जालस्थलhttp://www.cgculture.in/MUSEUM/Raipur.htm

महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय भारत में छत्तीसगढ़ राज्य की राजधानी रायपुर में स्थित है। यह एक पुरातात्विक संग्रहालय है। इसे 1875 में राजा महंत घासीदास ने बनवाया था। वर्ष 1953 में रानी ज्योति और उनके पुत्र दिग्विजय ने इस भवन का पुनर्निर्माण करवाया था। इस संग्रहालय में हथियारों के नमूने, प्रावीन सिक्कें, मूर्तियाँ और नक्काशी आदि प्रदर्शित किए गए हैं, साथ ही क्षेत्रीय आदिवासी जनजातीय परम्पराओ को प्रदर्शित करने वाले कई प्रादर्श यहाँ रखे गए है।सन 1953 को इस संग्रहालय भवन का लोकार्पण[1] गणतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद के करकमलों द्वारा किया गया। इस संग्रहालय में वर्तमान में कुल 17279 पुरावशेष एवं कलात्मक सामग्रियां हैं जिनमें 4324 सामग्रियां गैरपुरावशेष हैं तथा शेष 12955 पुरावशेष हैं।

१०वी शताब्दी के नृसिंह अवतार की प्रतिमा
मस्तक

चित्रदीर्घा[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]