मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली
Multi Calibre Individual Weapon System (MCIWS)
DRDO MC Rifle.jpg
मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली (MCIWS)
प्रकार आक्रमण राइफल
उत्पत्ति का मूल स्थान भारत
उत्पादन इतिहास
डिज़ाइनर आर्ममेंट रिसर्च एंड डेवलपमेंट एस्टाब्लिशमेंट
डिज़ाइन किया 2014–वर्तमान
निर्माता आयुध निर्माणी तिरुचिरापल्ली
निर्माणित संख्या केवल पूर्व उत्पादन प्रोटोटाइप
निर्दिष्टीकरण
वजन 3.4 कि॰ग्राम (7.5 पौंड) (खाली) मैगजीन के साथ भरी हुई)
लंबाई 910 मि॰मी॰ (36 इंच) (बट सहित)

कारतूस 5.56×45मिमी नाटो
7.62×39मिमी
6.8मिमी रेमिंगटन एसपीसी
कार्रवाई गैस संचालित, घूर्णन बोल्ट
आग की दर 600-650 राउंड प्रति मिनट
थूथन वेग 715–890 मी/से (2,350-2,920 फीट/से)
दूरी जहाँ तक अस्त्र मार कर सके 500 मीटर
फ़ीड करने के लिए प्रणाली 30-राउंड डिटेविबल बॉक्स पत्रिकाएं
आकर्षण आयरन दृष्टि, विभिन्न दिन और रात ऑप्टिकल दृष्टि

मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली (Multi Calibre Individual Weapon System या MCIWS) एक आक्रमण राइफल है जिसे रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन की एक प्रयोगशाला, आर्ममेंट रिसर्च एंड डेवलपमेंट एस्टैब्लिशमेंट द्वारा विकसित किया गया है।[1] इसे पहली बार DEFEXPO 2014 प्रदर्शनी में देखा गया था और इसके ऑर्डनेंस फैक्टरी तिरुचिरापल्ली द्वारा निर्मित होने की संभावना है।[2]

2015 तक, राइफल को एडवांस्ड ऑटोमेटिक राइफल (एएआर) के रूप में भी जाना जाता था।[1] इसका खाली वजन 3.4 किलोग्राम (7.5 पौंड) है। इसका 2014 से उत्पादन किया जा रहा है। यह 600-650 राउंड प्रति मिनट फायर कर सकती है।

इतिहास[संपादित करें]

मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली

भारतीय सेना ने वर्तमान आईएनएसएएस राइफल को सेवा से बदलने के लिए स्वदेशी आक्रमण राइफल चुनने का फैसला किया है। निर्णय सेना के पूर्व चीफ जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने लिया। यह निर्णय विदेशी मुद्रा में पैसा बचा सकता है और स्थानीय निर्माण को बढ़ावा दे सकता है। कई राइफल वर्तमान में तीन प्रोटोटाइप राइफलों के साथ छोटे हथियारों के परीक्षण से गुजर रहे हैं जो आईएनएसएएस राइफल के भविष्य के प्रतिस्थापन के रूप में परीक्षण के लिए तैयार हैं।[1][3][4] मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली ने सीमा सुरक्षा बल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, इंडो-तिब्बती सीमा पुलिस और सशस्त्र सीमा बल सहित भारतीय अर्धसैनिक बलों के साथ भी रुचि पाई है।[5][6]


डिज़ाइन[संपादित करें]

मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली 5.56x45मिमी नाटो, 7.62×39मिमी और 6.8मिमी रेमिंगटन एसपीसी फायर करने के लिए कॉन्फ़िगर किया गया है।[2] इसका डिजाइन दोनों एआर-15 और एफएन एफएनसी से प्रभावित है।[2] बैरल असेम्बली एके-47 पर आधारित है।[7] इसका डिजाइन सैनिकों को राइफल बैरल को बदलकर मिशन की आवश्यकताओं के अनुसार इसे कॉन्फ़िगर करने की अनुमति देगा।[3] मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली एक गैस संचालित शॉर्ट स्ट्रोक पिस्टन डिजाइन का उपयोग करता है और 30-राउंड प्लास्टिक-टाइप मैगज़ीन का उपयोग करता है।[7][4] राइफल में भी कुछ खास विशेषताएं हैं, जैसे कि चार्जिंग लीवर और मैगजीन रिलीज़। मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली में एयरबर्स्ट-प्रकार के हथगोले को फायर करने के लिये स्वदेशी अन्डर बैरल ग्रेनेड लॉन्चर भी शामिल है, जो 500 मीटर तक के लक्ष्य भेद सकते हैं। ऊपरी रिसीवर पर पिकटिन्नी रेल पर विभिन्न दृष्टि को रखा जा सकता है। [4]

राइफल उच्च ग्रेड एल्यूमीनियम मिश्र धातु से बना है और इसका बेहतर प्रदर्शन किया गया है। मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली का मॉड्यूलर डिज़ाइन सैनिक को पिन हटाकर बंदूक को और अधिक आसानी से इकट्ठा करने में मदद करता है। साथ ही बिना कीलक वाला डिजाइन इसे युद्ध वातावरण में बेहतर काम करने में मदद करता है।[5][1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "DRDO multi-calibre guns undergoing trials - The Times of India". Timesofindia.indiatimes.com. 2012-12-28. अभिगमन तिथि 2015-06-23.
  2. Johnson, Steve (2014-02-18). "India's Prototype MCIWS Rifle In Detail". The Firearm Blog. अभिगमन तिथि 2015-06-23.
  3. "ARDE designs multiple-calibre rifle, begins prototyping | Sakal Times". Sakaaltimes.com. अभिगमन तिथि 2015-06-23.
  4. "Saurav Jha's Blog : A new year for DRDO". Ibnlive.in.com. 2014-02-04. अभिगमन तिथि 2015-06-23.
  5. "Multi-Calibre Assault Rifle: Made in India vs Make in India". Indiandefencereview.com. अभिगमन तिथि 2015-09-13.
  6. PDF file of Indian defence review, 2015
  7. "The Assault Rifles Of The Near Future (Updated)". 21st Century Asian Arms Race. 2014-03-01. अभिगमन तिथि 2015-06-23.