मलयालम साहित्य की दादी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मलयालम साहित्य की दादी एक लोक अलंकरण है, जो मलयाली कवयित्री बालमणि अम्मा को कहा जाता है। आधुनिक मलयालम की सबसे सशक्त कवयित्रियों में से एक होने के कारण उन्हें मलयालम साहित्य की दादी [ट 1]कहा जाता है।[2]

उद्धरण[संपादित करें]

  1. मलयालम भाषा में മുത്തശ്ശി यानि "मुथास्सी" दादी को कहा जाता है।।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Balamaniamma" [बालमणि अम्मा] (मलयालम में). मलयाला मनोरमा. मूल से 28 जनवरी 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 1 जुलाई 2014.
  2. "Balamani Amma, Malayali poet (video interview)" [बालमणि अम्मा, मलयाली कवयित्री (वीडियो साक्षात्कार)] (अंग्रेज़ी में). इंडिया वीडियो. मूल से 14 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 1 जुलाई 2014.