मनु स्मृति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मनु स्मृति जिसे मानव धर्म शास्त्र भी कहा जाता हे | यह हिन्दुओ का एक महत्त्वपुर्न ग्रन्थ कहलाता हे | इस ग्रन्थ में सामाजिक वर्गो के बारे में उपदेश कहे गये हे|

उत्पत्ति और समय[संपादित करें]

मन्यत्ता यह हे कि ऋषि भृगु इसके रचियता थे प्रत्येक अध्याय के अंत में उनका नाम लिया जाता हे | जिस व्यक्ति ने यह लिखा था उसका नाम नहीं लिखा गया। लेकिन नारद स्मृति ४ सदी में यह उल्लेख मिलता कि मनु स्मृति के लेखक का नाम सुमति भार्गव था जो की कोई महान व्यक्ति नहीं था। जिस काल में यह लिखा गया था वह काल १७०-१५० इसा पूर्व मन जाता हे | उस समय इस भारत में प्रथम पुष्यमित्र सुंग का साम्राज्य स्थपित हटा था। वह बोद्धो पर अत्याच्चार के लिया प्रसिद्द था। [1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. History of the Indigenous Indians By Ṭi. Ecc. Pi Centāraśśēri