सामग्री पर जाएँ

मदनवर्मन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

मदनवर्मन (शासनकाल 1128-1165 सीई) भारत के चन्देल राजवंश के सम्राट थे। उन्होंने अपने पिता पृथ्वीवर्मन की मृत्यु के बाद जेजाकभुक्ति का साम्राज्य संभाला और द्रविड़ों को पराजित किया। पड़ोसी राज्यों पर दिग्विजय कर उन्होंने चन्देल महिमा को पुनर्जीवित किया। उन्होंने दुबारा से कई टैंकों, दानों, यज्ञों और मंदिरों को चालू किया एवं धर्म को फैलाया।[1]

मदनवर्मन
श्रीमंत-चक्रवर्ती सम्राट
परमभट्टरक, परमेश्वर, परमवैष्णव, महाराजाधिराज, महोबानरेश, माहिष्मतीनरेश, द्रविड़विजेता, श्रीकलंजराधिपति
16वें चक्रवर्ती चन्देल सम्राट
शासनावधिc. 1128-1165 CE
पूर्ववर्तीपृथ्वीवर्मन
उत्तरवर्तीयशोवर्मन् द्वितीय
जन्म1102 ई0
महोबा, उत्तर प्रदेश
निधन1166 ई0
महोबा, उत्तर प्रदेश
संतानयशोवर्मन् द्वितीय
पूरा नाम
श्रीमानमत मदनवर्मन-देव चन्देल
शासनावधि नाम
मदन
घरानाहैहय, चन्द्रवंश
राजवंशचन्देल
पितापृथ्वीवर्मन
धर्मवैष्णव धर्म, हिंदू धर्म
  1. Dikshit, R. K. (1976). The Candellas of Jejākabhukti (अंग्रेज़ी में). Abhinav Publications. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7017-046-4.