मंगलयान-2

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मंगलयान 2
Mangalyaan 2
मिशन प्रकार मंगल ऑर्बिटर, लैंडर तथा रोवर
संचालक (ऑपरेटर) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
मिशन अवधि योजना: 1 साल
अंतरिक्ष यान के गुण
बस आई-3के
निर्माता भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
मिशन का आरंभ
प्रक्षेपण तिथि Oct 2019[1]
रॉकेट भूस्थिर उपग्रह प्रक्षेपण यान मार्क 3[1]
प्रक्षेपण स्थल सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र
ठेकेदार भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
मंगल कक्षीयान
कक्षा मापदंड
निकट दूरी बिंदु200 कि॰मी॰ (120 मील)
दूर दूरी बिंदु2,000 कि॰मी॰ (1,200 मील)[1]
----
मंगल ग्रह के लिए भारतीय मिशन
← मंगलयान

मंगलयान 2 (Mangalyaan 2) भारत का मंगलयान के बाद मंगल ग्रह के लिए दूसरा मिशन है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा मंगल ग्रह के लिए मिशन को Oct 2019 में लांच किया जायेगा। यह मिशन अपने साथ ऑर्बिटर, लैंडर तथा रोवर ले के जाएगा।

इतिहास[संपादित करें]

इसरो के मंगलयान की सफलता के बाद इसरो ने 28 अक्टूबर 2014 बैंगलोर में आयोजित इंजीनियर्स कॉन्क्लेव 2014 सम्मेलन में दूसरे मंगलयान मिशन घोषणा की। इसरो ने 2016-2017 तक जीएसएलवी मार्क 3 की पूरी तरह परिचालन की उम्मीद है। इसलिये इसरो ने मंगलयान-2 के लिए जीएसएलवी मार्क 3 को चुना है।

जनवरी 2016 में, इसरो ने संयुक्त रूप से मंगलयान 2 के निर्माण के लिए 2019 तक के लिए आशय के एक पत्र पर हस्ताक्षर किए।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Mangalyaan 2".