भोयरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
भोयरी
बोलने का  स्थान भारत मध्यप्रदेश का बैतूल, छिंदवाड़ा, वर्धा क्षेत्र)
तिथि / काल 2011
मातृभाषी वक्ता
भाषा परिवार
भाषा कोड
आइएसओ 639-3 bhoy1241

भोयरी[1] बैतूल, छिंदवाड़ा, वर्धा क्षेत्र में भोयर समुदाय के लोगो द्वारा बोली जाने वाली एक भारतीय-आर्य भाषा हिंदी की उपभाषा है [2] जिसमे राजस्थानी मालवी के शब्द पाए जाते है। [3] जो की , 2011 की भारतीय जनगणना रिपोर्ट द्वारा 'हिंदी की बोली' के रूप में नामित उपभाषा में से एक है।[4] भोयर लोगो द्वारा यह बोली बोले जाने के कारन इस बोली का नाम भोयरी पड़ा ![5] [6] [7] [8] श्री गियरसन द्वारा किये पहले भाषा सर्वे में भोयरी का उल्लेख है ! </ref> [9]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "भोयरी पवारी".
  2. Upādhyāya, C. (1960). Malavī-eka bhāshā-śāstrīya adhyayana: Historical, comparative and descriptive study of Malvi-dialect. Maṅgala granthamālā (लातवियाई में). Maṅgala Prakāśana.
  3. "भोयरी Bhoyari of Malvi (mup".
  4. "ABSTRACT OF SPEAKERS' STRENGTH OF LANGUAGES AND MOTHER TONGUES - 2011" (PDF).
  5. "Mālavī aura usakā sāhitya: - Page 25".
  6. "central provinces district gazetteers chhindwara 1907 ,पृष्ठ क्रमांक 43, 63".
  7. "Malvi_language".
  8. ""भोयरी पवारी" राजेश बारंगे पंवार, वैभव पाठे द्वारा".
  9. "Hindi_Anusandhan ,पृष्ठ क्रमांक 132".