भूपेन हाजरिका सेतु

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भूपेन हजारिका सेतु
ढोला-सदिया सेतु
SMOOTHEST CURVE IN VIADUCTS MADE THROUGH SEGMENTS.JPG
ढोला-सदिया सेतु
निर्देशांक27°47′55″N 95°40′34″E / 27.79861°N 95.67611°E / 27.79861; 95.67611निर्देशांक: 27°47′55″N 95°40′34″E / 27.79861°N 95.67611°E / 27.79861; 95.67611
को पार करती हैलोहित नदी
स्थानीयढोला (असम ) - सदिया (अरुणाचल प्रदेश )
Flag of India.svg भारत
आधिकारिक नामभूपेन हजारिका सेतु
रखरखावसड़क यातायात और राजमार्ग मंत्रालय - नवयुग इंजीनियरिंग कम्पनी लिमिटेड के साथ (सरकारी-निजी योजना)
विशेषता
कुल लंबाई9.15 कि॰मी॰ (30,000 फीट)
चौड़ाई12.9 मी॰ (42 फीट)
सबसे लम्बा स्पैन50 मी॰ (160 फीट)
स्पैन संख्या183
इतिहास
निर्माण शुरू2011
निर्माण बंद10 मार्च 2017
शुरू हुआ26 मई 2017

भूपेन हजारिका सेतु या ढोला-सदिया सेतु भारत का सबसे लम्बा पुल है।[1]जिसका उद्घाटन 26 मई 2017 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कर दिया गया। यह 9.15 किलोमीटर (5.69 मील) लम्बा सेतु लोहित नदी को पार करता है, जो ब्रह्मपुत्र नदी की एक मुख्य उपनदी है। इसका एक छोर अरुणाचल प्रदेश के ढोला कस्बे में और दूसरा छोर असम के तिनसुकिया जिले के सदिया कस्बे में है। इस से अरुणाचल प्रदेश और असम के बीच के यातायात के समय में चार घंटे की कमी आएगी।[2] ढोला-सदिया सेतु महाराष्ट्र के मुंबई नगर के बान्द्रा-वर्ली समुद्रसेतु से 3.55 किमी (2.21 मील) अधिक लम्बा है।[3]

लागत-:2056 करोड़

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "The mighty Brahmaputra is the biggest hurdle to the country's longest bridge".
  2. "India's Longest Bridge In Final Stages Of Construction: 10 Points," Ratnadip Choudhury, 15 April 2017, NDTV
  3. "Longest bridge in India provides a quick link to LAC".