भुवन वाणी ट्रस्ट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

भुवन वाणी ट्रस्ट हिन्दी पुस्तकों के एक प्रमुख प्रकाशक हैं। इसकी स्थापना १९६९ में नन्द कुमार अवस्थी ने की थी। इसका मुख्यालय लखनऊ में है। हिन्दी, उर्दू (अ़रबी-फ़ारसी सहित), संस्कृत, बँगला, असमी, ओड़िया, कश्मीरी, मराठी, गुरुमुखी, गुजराती, तमिळ, तेलुगु, कन्नड़ मलयाळम, सिन्धी, नेपाली, राजस्थानी आदि भाषाओं तथा अनेक बोलियों के सत्साहित्य को, देवनागरी लिपि में धारावाहिक सानुवाद लिप्यन्तरण द्वारा, भारत के जन-जन तक पहुँचाना, अधिकाधिक भाषाओं का शिक्षण, प्रसारण और ज्ञान प्राप्त कराते हुए इनको एक सूत्र में पिरोहना- यही ‘भुवन वाणी ट्रस्ट’ संस्था का उद्देश्य है।

इस संस्था ने 'भाषा मंदिर' का निर्माण किया है जिसके देवता विश्व की सभी लिपियों के वर्ण हैं किन्तु 'प्रमुख देवता' विश्व की वैज्ञानिक लिपि देवनागरी है।

स्थापना[संपादित करें]

मुख्य प्रकाशन[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

टीका[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]