भीम आर्मी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भीम आर्मी
संस्थापक चंद्रशेखर आज़ाद रावण व विनय रतन सिंह
स्थापना हुई उत्तर प्रदेश
प्रकार सामाजिक संगठन

भीम आर्मी अंबेडकर सेना या भीम आर्मी भारत एकता मिशन, जिसे भीम आर्मी भी कहा जाता है, भारत में एक बहुजन-संगठन है। इसकी स्थापना वकील चंद्रशेखर आज़ाद रावण और विनय रतन सिंह ने की थी। यह संगठन छुआछूत, भेदभाव व ऊँच-नीच की भावनाओं को मिटाने के लिए व शिक्षा के माध्यम से बहुजन मुक्ति के लिए काम कर रहा है।[1] यह पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बहुजनों के लिए 350 मुक्त विद्यालय चलाता है: सहारनपुर, मेरठ, शामली और मुजफ्फरनगर। संगठन का नाम भीमराव अंबेडकर के नाम पर रखा गया है।[2]

बहुजनों के प्रति उच्च जाति ठाकुर समुदाय से अत्याचार के कारण भीम सेना का गठन शुरू हो गया था। जब पीड़ितों ने प्रशासन से मामला उठाया, तो उन्हें विभिन्न तिमाहियों से धमकी मिली।

उत्तर प्रदेश में जातिगत संघर्ष के बाद यह प्रमुख हो गया,[3] जिसमें उनकी भागीदारी के लिए रावण को बाद में उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स ने गिरफ्तार कर लिया।[4]

भीम आर्मी ने नई दिल्ली के जंतर-मंतर में दो बड़ी रैलियों का आयोजन किया, जहाँ हजारों बहुजन प्रदर्शनकारी अत्याचारों का विरोध करने के लिए एकत्रित हुए, जो कहते हैं कि वे सामना करना चाहते हैं और रावण की रिहाई की मांग करते हैं।[5]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "What is the Bhim Army?". The Indian Express (अंग्रेज़ी में). 2018-05-18. अभिगमन तिथि 2019-08-19.
  2. Ali, Mohammad (2017-06-28). "Bhim Army, soldiers on a literacy mission". The Hindu (अंग्रेज़ी में). आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0971-751X. अभिगमन तिथि 2019-08-19.
  3. Kulkarni, Dhaval (2017-06-29). "After UP, Bhim Army set to rock Maharashtra". DNA India (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-08-19.
  4. "Bhim army chief arrested: Family threatens govt, Congress calls him 'victim'". The Indian Express (अंग्रेज़ी में). 2017-06-09. अभिगमन तिथि 2019-08-19.
  5. We The People: The Curse Of Caste?, अभिगमन तिथि 2019-08-19

गुजरात के अमरेली मे भीम आर्मी ने अपना ओफ़ीस खोला हे जहा के जिल्ला अध्यक्ष वसंत चावडा हे ओर वे अमरेली तहसील के बहुजनोको अपने हक़ अधीकार से परीचीत करते हे ओर उन्हे अपने हक अधीकार दिलाने का प्रयास करते हे