भारत स्वाभिमान न्यास

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बाबा रामदेव

भारत स्वाभिमान न्यास योग गुरू बाबा रामदेव द्वारा 638365 गाँवों तक योग पहुँचाने के लक्ष्यों को लेकर स्थापित एक न्यास है। यह न्यास ५ जनवरी २००९ को दिल्ली में पंजीकृत कराया गया था। इसका उद्देश्य भ्रष्टाचार, गरीबी, भूख, अपराध, शोषण मुक्त भारत का निर्माण करना है। इस न्यास का प्रमुख उद्देश्य भारत के सोये हुए स्वाभिमान को जगाने के लिये अखिल भारतीय स्तर पर एक राष्ट्रव्यापी आन्दोलन खड़ा करना है।[1] न्यास स्वयं को गैर राजनीतिक बताता है।

भारत स्वाभिमान स्वदेशी वस्तुओं का प्रचार करने के साथ विदेशी कम्पनियों का बहिष्कार करती है।भारत स्वाभिमान न्यास में राजीव दीक्षित जी , डॉ जयदीप आर्य , राकेश कुमार व् बहिन सुमन ने स्वदेशी की अवधारणा से प्रेरित होकर सन्गठन की बागडोर सम्भाली। बाबा रामदेव ने राजीव दीक्षित को भारत स्वाभिमान ट्रस्ट का सचिव नियुक्त किया था। जिसमे उन्होंने कालेधन व स्वदेशी के आन्दोलन के साथ साथ भ्रष्टाचार मुक्त भारत के लिए जीतोड़ मेहनत की।

स्वदेशी आन्दोलन तथा आज़ादी बचाओ आन्दोलन इसी आंदोलन के भाग नहीं हैं। [2]

उद्देश्य व कार्यप्रणाली[संपादित करें]

भारत स्वाभिमान ट्रस्ट ने देश के सभी शहरों से लेकर गाँवों तक बाबा रामदेव की योग क्रान्ति को पहुंचाया और करोड़ों लोगों को योग से जोड़ने का काम किया है। इस आन्दोलन में कई लाख लोगों को सदस्य बनाने का काम जारी है और प्रत्येक जिले में युवा, शिक्षक, चिकित्सक, किसान, श्रमिक संगठन के रूप में ट्रस्ट की 15 इकाइयाँ काम कर रही हैं। भारत स्वाभिमान ट्रस्ट ने देश में व्यवस्था परिवर्तन में अपना योगदान दिया है। इस ट्रस्ट ने आम देशवासियों में यह प्रवृत्ति जगाने का काम किया कि वह मतदान अवश्य करें। भारत स्वाभिमान स्वदेशी वस्तुओं का प्रचार करने के साथ विदेशी कम्पनियों का बहिष्कार करती है और पतंजलि के माध्यम से लोगों को एक अच्छा विकल्प भी देने की कोशिश की है। [3] भारत स्वाभिमान एक गैर राजनीतिक संगठन है, इस ट्रस्ट के कार्यकर्ता देश के लोगों को अपनी भारतीय संस्कृति, योग-अध्यात्म से अवगत कराने के साथ-साथ देश से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों में खुद भी अग्रणीय भूमिका निभाते हैं। जैसे की स्वच्छ भारत अभियान में भारत स्वाभिमान के लाखों कार्यकर्ताओं ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया।[4]


लक्ष्य[संपादित करें]

न्यास का मुख्य लक्ष्य है

  • 1॰ 100% राष्ट्रवादी सोच
  • 2॰ विदेशी कंपनियों के 100% बहिष्कार, 'स्वदेशी को गोद लेने की
  • 3॰ देश के लोगों का 100% एकीकरण
  • 4॰ 100% योग उन्मुख राष्ट्र

शपथ[संपादित करें]

भारत स्वाभिमान आंदोलन की पांच शपथ

  • हम केवल देशभक्त ईमानदार, बहादुर, दूरदर्शी, और कुशल लोगों के लिए मतदान करेंगे। हम अपने आप को 100% वोट करने के साथ दूसरों को भी मतदान के लिए प्रेरित करेंगे।
  • हम देशभक्त ईमानदार, जागरूक, संवेदनशील, बुद्धिमान और ईमानदार लोगों को एकजुट करेंगे और राष्ट्र की शक्तियों को एकजुट करने का प्रयास करेंगे। हमें भारत को दुनिया की सबसे बड़ी महाशक्ति बनाना है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Bharat Swabhiman Andolan. "Bharat Swabhiman Andolan- Swami Ramdev Baba". Bharat-swabhiman.com. अभिगमन तिथि 22 2014. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  2. "Regular Activities | Arise, Awake!!". Vsmpantnagar.org. 27 दिसंबर 2009. अभिगमन तिथि 6 अगस्त 2010.
  3. "पतंजलि का मकसद मुनाफा नहीं". राजस्थान पत्रिका. १९-मई-२०१५. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  4. "बाबा रामदेव ने चलाया स्वच्छ भारत अभियान". दैनिक जागरण. १६-अक्टूबर-२०१४. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]