भारत में अधर्म

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अनीश्वरवाद और अज्ञेयवाद का भारत में लम्बा इतिहास है। बौध, जैन तथा हिन्दू धर्म के कुछ वर्ग अनीश्वरवाद को अपनी स्वीकृति प्रदान कर चुके हैं। [1] भारत ने कई उल्लेखनीय नास्तिक राजनेता और समाज-सेवक पैदा किए हैं। [2]

2012 के डब्ल्यू-आई-एन गैलल धर्म और अनीश्वरवाद रिपोर्ट के अनुसार, 81% धार्मिक हैं, 13% धार्मिक नहीं हैं। 3% आश्वस्त रूप से नास्तिक हैं जबकि 3% ने उत्तर नहीं दिया।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Chakravarti, Sitansu (1991). Hinduism, a way of life. Motilal Banarsidass Publ. पृ॰ 71. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-208-0899-7. अभिगमन तिथि 2011-04-09.
  2. Phil Zuckerman (21 December 2009). "Chapeter 7: Atheism and Secularity in India". Atheism and Secularity. ABC-CLIO. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-313-35182-2. अभिगमन तिथि 7 September 2013.
  3. "Global Index Of Religion And Atheism" (PDF). WIN-Gallup. अभिगमन तिथि 3 September 2013.