भारतीय भूचुम्बकत्व संस्थान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भारतीय भूचुम्बकत्व संस्थान का नवी मुम्बई (पनवेल) स्थित नया प्रांगण

भारतीय भूचुम्बकत्व संस्थान (Indian Institute of geomagnetism, IIG, आई आई जी) भारत का एक प्रमुख अनुसंधान संस्थान है जो भूचुम्बकत्व, वायुमण्डलीय भौतिकी, अंतरिक्ष भौतिकी तथा प्लाज्मा भौतिकी जैसे परस्पर सम्बन्धित क्षेत्रों में मूलभूत एवं अनुप्रयुक्त अनुसंधान में संलग्न है। यह भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के आधीन एक स्वतंत्र (आटोनॉमस) संस्था है।[1] यह नवी मुम्बई के पनवेल नामक स्थान पर स्थित है।

इसके पूरे देश में दो क्षेत्रीय केंद्र और 12 चुंबकीय वेधशालाएं स्थित हैं। आईआईजी ने अपने तीसरे क्षेत्रीय केंद्र के रूप में शिलांग भूभौतिकीय अनुसंधान केंद्र (एसजीआरसी) की स्‍थापना की है। शिलांग में स्‍थापित नये केन्‍द्र का अनुसंधान में ध्यान संख्यात्मक मॉडलिंग उपकरणों द्वारा सहायता प्राप्त अवलोकन तकनीक की एक किस्म का उपयोग करके उत्तर-पूर्व में विभिन्न वायुमंडलीय क्षेत्रों में पूर्व और सह-भूकंपीय सिग्‍नेचरों के गूढ़ रहस्यों का पता लगाने पर केन्द्रित होगा।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]