भरतपुर राज्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Bharatpur State
भरतपुर राज्य
ब्रितानी भारत
1707 – 1947
Flag राज्य-चिह्न
Flag Coat of arms
स्थिति भरतपुर रियासत
Bharatpur State in the Imperial Gazetteer of India
इतिहास
 - स्थापना 1707
 - भारत के स्वतन्त्र होने पर 15 August
क्षेत्रफल
 - 1931 5,123 किमी² (1,978 वर्ग मील)
जनसंख्या
 - 1931 4,86,954 
     घनत्व 95.1 /किमी²  (246.2 /वर्ग मील)
वर्तमान भाग राजस्थान, भारत
डीग राजमहल भरतपुर राज्य के राजाओं का महल है। इसे 1772 में बनवाया गया था।
View of the Deeg Fort taken in the 1890s. Deeg was the first capital of the Sinsini Jats established by Badan Singh. Later the capital was moved to Bharatpur.

भरतपुर राज्य भारतीय उपमहाद्वीप का एक राज्य (रियासत) थी । इसका शासन सिनसिनवार वंश के जाट शासकों के हाथ में था। [1][2]

महाराजा सूरजमल (1755-1763) भरतपुर राज्य के दूरदर्शी जाट महाराजा थे। उनके पिता बदन सिंह ने डीग को सबसे पहले अपनी राजधानी बनाया और बाद में सूरजमल ने भरतपुर शहर की स्थापना की। महाराजा सूरज मल के समय भरतपुर राज्य की सीमा आगरा, धोलपुर, मैनपुरी, हाथरस, अलीगढ़, इटावा, मेरठ, रोहतक, फर्रुखनगर, मेवात, रेवाड़ी, गुड़गांव, तथा मथुरा तक के विस्तृत भू-भाग पर फैली हुई थी। भरतपुर के जाट राजवंश के प्रमुख राजाओं में : बदन सिंह (1722 - 1756), महाराजा सूरज मल (1756-1767) एवं अन्य राजा थे। अंत में महाराजा ब्रजेन्द्र सिंह, (1929-1947) ने भरतपुर राज्य को भारत में शामिल कर लिया था।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Solomon, R. V.; Bond, J. W. (2006). Indian States: A Biographical, Historical, and Administrative Survey (अंग्रेज़ी में). Asian Educational Services. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788120619654.
  2. McClenaghan, Tony (1996). Indian Princely Medals: A Record of the Orders, Decorations, and Medals of the Indian Princely States (अंग्रेज़ी में). Lancer Publishers. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781897829196.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]