सामग्री पर जाएँ

खण्डशृंखला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(ब्‍लॉकचेन तकनीक से अनुप्रेषित)
खंडशृंखला का निर्माण। मुख्य शृंखला (काली) में उत्पत्ति-शृंखला (हरी) से लेकर वर्तमान शृंखला तक सर्वाधिक लम्बी शृंखलाएँ हैं। अनाथ खण्ड (बैगनी) का अस्तित्व मुख्य शृंखला से बाहर होता है।
Bitcoin network data

खण्डशृंखला (अंग्रेज़ी: Blockchain),[1][2][3], लगातार बढ़ने वाली रिकॉर्डों की सूची को कहते हैं। इन रिकॉर्डों को 'ब्लॉक' कहा जाता है जो क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करके लिंक की गयीं और सुरक्षित की गयीं होती हैं।[4][5]खण्डशृंखला (Blockchain) एक तकनीक है जो डिजिटल डेटा को सुरक्षित तरीके से संग्रहित करती है। यह एक डिस्ट्रीब्यूटेड लेजर होती है, जिसमें न केवल डेटा को संग्रहित किया जाता है, बल्कि यह डेटा के साथ साथ उसकी प्रतिष्ठिता भी सुनिश्चित करती है। खण्डशृंखला (Blockchain) एक विशेष प्रकार की तकनीक है, जिसे डिजिटल डेटा को सुरक्षित रखने के लिए उपयोग किया जाता है। इस तकनीक का उपयोग आज के समय में विभिन्न क्षेत्रों में हो रहा है, जैसे कि बैंकिंग, स्टॉक मार्केट, वित्तीय संस्थाएं, वित्तीय संपत्ति, जमीन रजिस्ट्री आदि। खण्डशृंखला एक सुरक्षित तरीके से संग्रहित डेटा की ब्लॉकचेन में संग्रहित करती है, जिसमें प्रत्येक ब्लॉक में पहले ब्लॉक से लिंक किए गए तर्क होते हैं। इसलिए, खण्डशृंखला में जोड़े गए डेटा का संपूर्ण इतिहास रिकॉर्ड किया जाता है।


खण्डशृंखला के विकास की शुरुआत 2008 में सतोशी नाकामोटो नामक व्यक्ति ने की थी। उन्होंने बिटकॉइन (Bitcoin) नामक क्रिप्टोकरेंसी के लिए इस तकनीक का उपयोग किया था। बिटकॉइन एक ऑनलाइन मुद्रा है, जिसका उपयोग विभिन्न वित्तीय लेनदेनों में किया जाता है। और पड़ें

सन्दर्भ

[संपादित करें]
  1. "The great chain of being sure about things". The Economist. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0013-0613. अभिगमन तिथि 2023-03-04.
  2. "Leaderless, Blockchain-Based Venture Capital Fund Raises $100 Million, And Counting". Fortune (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2023-03-04.
  3. Johnsen, Maria (2020-05-12). Blockchain in Digital Marketing: A New Paradigm of Trust (अंग्रेज़ी में). Maria Johnsen. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 979-8-6448-7308-1.
  4. Narayanan, Arvind; Bonneau, Joseph; Felten, Edward; Miller, Andrew; Goldfeder, Steven (2016). Bitcoin and cryptocurrency technologies: a comprehensive introduction. Princeton: Princeton University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-691-17169-2.
  5. Haber, Stuart; Stornetta, W. Scott (1991-01-01). "How to time-stamp a digital document". Journal of Cryptology (अंग्रेज़ी में). 3 (2): 99–111. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 1432-1378. डीओआइ:10.1007/BF00196791.

ब्लॉकचेन तकनीक क्या है । Blockchain Technology In Hindi CryptoWali