ब्लॉगोत्सव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ब्लॉगोत्सव अंतर्जाल पर हुई साहित्योत्सव की परिकल्पना का मूर्तरूप है।

परिकल्पना डॉट कॉम के संचालक-समन्वयक और हिंदी के मुख्य ब्लॉग विश्लेषक लखनऊ निवासी रवीन्द्र प्रभात ने अपने छ: सहयोगियों क्रमश: अविनाश वाचस्‍पति, रश्मि प्रभा, ज़ाक़िर अली रजनीश, रणधीर सिंह सुमन, इं. विनय प्रजापति और ललित शर्मा के साथ मिलकर वर्ष-2010 में अंतरजाल पर ब्लॉगोंत्सव मनाने का फैसला किया और इस उत्सव को नाम दिया “परिकल्पना ब्लॉग उत्सव″ इस उत्सव का नारा था – ” अनेक ब्लॉग नेक हृदय” इस उत्सव में अनेकानेक कालजयी रचनाएँ, विगत दो वर्षों में प्रकाशित कुछ महत्वपूर्ण ब्लॉग पोस्ट, ब्लॉग लेखन से जुड़े अनुभवों पर वरिष्ठ चिट्ठाकारों की टिप्पणियाँ, साक्षात्कार, मंतव्य आदि का भव्यता के साथ प्रकाशन हुआ।[1]

यह उत्सव 15अप्रैल-2010 से 15 जून-2010 तक अर्थात दो महीने तक परिकल्पना की साइट पर निर्वाध रूप से चला और हिंदी ब्लॉगजगत में एक नए इतिहास के सृजन का साक्षी बना। ब्लॉग पर इस उत्सव को प्रायोजित किया बाराबंकी से प्रकाशित लोकसंघर्ष पत्रिका ने और इसमें उद्घोषित 51 ब्लॉगर्स को दिनांक 30 अप्रैल-2011 को हिंदी भवन दिल्ली में सारस्वत सम्मान देने का निर्णय लिया देश के एक बड़े प्रकाशन संस्थान हिन्दी साहित्य निकेतन बिजनौर ने।[2]इसी प्रकार वर्ष 2011 में यह उत्सव (द्वितीय संस्कारण) अंतर्जाल पर 23 जून 2011 से 23 सितंबर 2011 तक निर्वाध रूप से परिकल्पना पर जारी रहा। इसका समापन विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देनेवाले वरिष्ठ तथा नए प्रतिभाशाली 51 चिट्ठाकारों के सारस्वत सम्मान से हुआ। उत्सव के दौरान सारगर्भित टिपण्णी देने वाले श्रेष्ठ टिप्पणीकार को भी इस अवसर पर सम्मानित किया गया। ब्लॉग पर इस उत्सव के द्वितीय संस्कारण को भी प्रायोजित किया बाराबंकी से प्रकाशित लोकसंघर्ष पत्रिका ने और इसमें उद्घोषित 51 ब्लॉगर्स को दिनांक 27 अगस्त-2012 को राय उमनाथ वली प्रेक्षागृह, लखनऊ में सारस्वत सम्मान देने का निर्णय लिया सामाजिक सांस्कृतिक संस्था तस्लीम ने।[3]ब्लॉगोत्सव का तीसरा संस्कारण ऑनलाइन परिकल्पना पर माह 1 नवंबर-2012 से 31 दिसम्बर 2012 तक मनाया गया और मंच प्रदान किया गया 13 सितंबर 2013 से 15 सितंबर 2013 तक लोकनाथ साहित्य सदन सेरखूटे चौराहा काठमाण्डू, नेपाल में, जहां नेपाली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री नेपाल सरकार तथा नेपाल संबिधान सभा के अध्यक्ष अर्जुन नरसिंह के सी द्वारा 51 ब्लॉगरों को परिकल्पना सम्मान प्रदान किया गया। इस अवसर पर भारत के वरिष्ठ व्यंग्यकार गिरीश पंकज, हिन्दी के मुख्य ब्लॉग विश्लेषक रवीन्द्र प्रभात, साहित्यकार डॉ नमिता राकेश, डॉ रमा द्विवेदी तथा नेपाल के वरिष्ठ साहित्यकार कुमुद अधिकारी, विक्रम मणि त्रिपाठी और नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान के सदस्य सचिव सनत रेग्मी भी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम को प्रायोजित किया परिकल्पना समय ने।[4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. राष्ट्रीय सहारा, हिन्दी दैनिक, पटना संस्कारण,25 अप्रैल 2011, पृष्ठ संख्या : 06, समाचार शीर्षक : अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लहराएगा
  2. दैनिक भास्कर, राष्ट्रीय संस्कारण, नयी दिल्ली, दिनांक :29 अप्रैल 2011, लेखक : पीयूष पाण्डेय, आलेख शीर्षक : हिन्दी ब्लॉग सम्मेलन के बहाने
  3. हिंदुस्तान, हिन्दी दैनिक, लखनऊ संस्कारण, दिनांक : 28 अगस्त 2012, प्रेष्ठ संख्या :07, समाचार शीर्षक : सम्मानित हुये ब्लॉगर
  4. अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मेलन की विस्तृत रिपोर्ट

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]