ब्रहमजालसुत्त (थेरवाद)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ब्रहमजालसुत्त, दीर्घ निकाय के ३४ सुत्तों (सूत्रों) में से पहला सुत्त है।